Visitors have accessed this post 128 times.

वित्त मंत्री अरुण जेटली द्वारा बजट पेश करने के बाद राजनीतिक दल इसकी खूबियां और खामियां गिनाने में लगे हैं। भाजपा के नेता जहां इसे सभी वर्गों के लिए हितकारी बता रहे हैं तो विपक्षी इस बजट से गरीबों, किसानों और युवाओं को ठगने की बात कह रहे हैं।

उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने तो ट्वीट किया है कि ये अहंकारी सरकार का विनाशकारी बजट है। बजट से गरीब-किसान-मजदूर को निराशा हाथ लगी है। वहीं बेरोजगार युवा भी हताश हुए हैं।

अखिलेश ने कहा है कि इस साल का बजट कारोबारियों, महिलाओं, नौकरीपेशा और आम लोगों के मुँह पर तमाचा है। उन्होंने कहा है कि आखिरी बजट में भी भाजपा ने दिखा दिया कि वो केवल अमीरों की हिमायती है। जनता इसका जवाब सरकार को जरूर देगी।

वहीं, सीएम योगी आदित्यनाथ ने ट्वीट कर बजट से सभी वर्गों के सशक्तिकरण की बात कही। सीएम ने वित्त मंत्री अरुण जेटली द्वारा पेश किए गए साल 2018 के बजट को ऐतिहासिक बजट बताते हुए सराहा है।

उन्होंने कहा है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी के मार्गदर्शन में वित्त मंत्री ने किसानों, महिलाओं, युवाओं और समाज के सभी वर्गों के सशक्तीकरण का ऐतिहासिक बजट पेश किया है। सीएम ने कहा है कि मुझे विश्वास है कि इस बजट से देश के चहुंमुखी विकास को और गति मिलेगी।