Visitors have accessed this post 52 times.

हफ्ते में दो बाद दही का सेवन करने वालों को हृदय संबंधी बीमारियों का खतरा कम रहता है। एक नए शोध में दावा किया गया है कि उच्च रक्तचाप या हाइपरटेंशन हृदय संबंधी बीमारियों की बड़ी वजह होते हैं। पूर्व में शोध में भी साबित हुआ है कि दुग्ध उत्पादों का सेवन करने वालों की दिल की सेहत दुरुस्त रहती है।

अमेरिकन जर्नल ऑफ हाइपरटेंशन में प्रकाशित शोध में कहा गया है कि दही का हृदय संबंधी बीमारियों के खतरे से सीधा संबंध हो सकता है। अमेरिका के बोस्टन यूनिवर्सिटी स्कूल ऑफ मेडिसिन से संबद्ध् जस्टिन ब्यूएनडिया का कहना है कि हमारा अनुमान है कि लंबे समय तक दही का सेवन हृदय संबंधी बीमारियों के खतरे को कम करने में कारगर हो सकता है।

उम्मीद
अमेरिका के बोस्टन यूनिवर्सिटी स्कूल ऑफ मेडिसिन ने किया शोध
दिल के मरीजों के आहार में दही शामिल करने से मिले शानदार नतीजे

शोध के नतीजों में एक अहम सुराग यह भी मिला है कि दही अकेले भी हृदय की सेहत के लिए अच्छी है। फाइबर या रेशा युक्त फल, सब्जियों और अनाजों से परिपूर्ण भोजन के साथ मिलने हृदय संबंधी बीमारियों का खतरा काफी हद तक कम हो जाता है।

शोध के दौरान उच्च रक्तचाप की शिकार 30 से 55 साल की उम्र की 55 हजार महिलाओं और 40 से 75 साल के पुरुषों पर अध्ययन किया गया। विशेषज्ञों ने दही का अधिक मात्रा में सेवन करने से हार्ट अटैक का खतरा 30 फीसदी तक कम होने का दावा किया।

जिन मरीजों की बंद पड़ी रक्त धमनियों को सर्जरी से बदला गया था, उनके आहार में दही शामिल करने के बाद शानदार नतीजे देखने को मिले। इनकी दिल की मांसपेशियां मजबूत हुईं और रक्त का प्रवाह भी दुरुस्त हुआ।

ये भी देखें-

भाजपा ने किया देश के साथ धोखा – ललित राणा

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here