Visitors have accessed this post 71 times.

मेरठ के नामी स्कूल शांति निकेतन विधापीठ स्कूल की वैन के ड्राइवर की घोर लापरवाही सामने आई है। मारुति वैन खराब होने पर ड्राइवर ने पहली कक्षा के बच्चे को रिक्शे में बैठा दिया। रिक्शा चालक बच्चे को घर के बजाय कबाड़ी बाजार के चौराहे पर छोड़कर निकल गया। बच्च दो घंटे तक भटकता रहा। सामाजिक संस्था सारथी के पदाधिकारियों ने बच्चे को रोता देखा तो उसके परिजनों को सूचित किया। पूरे मामले में छात्र के परिजनों ने स्कूल प्रबंधन के खिलाफ लिसाड़ी गेट थाने में तहरीर दी है।

आपको बता दें कि लिसाड़ी गेट थाना क्षेत्र के शकूरनगर निवासी स्पोर्ट्स कारोबारी मोहम्मद शाहिद का पांच साल का बेटा अजहान मवाना रोड स्थित शांति निकेतन विधापीठ स्कूल में कक्षा-एक में पढ़ता है। अजहान के मुताबिक, मंगलवार दोपहर डेढ़ बजे छुट्टी के बाद स्कूली वैन के ड्राइवर ने उसे रिक्शे में बैठा दिया। रिक्शा चालक ने उसे घर पहुंचाने के बजाय कबाड़ी बाजार के चौराहे पर छोड़ दिया। शाम करीब चार बजे दिल्ली रोड से लौट रहीं सारथी संस्था अध्यक्ष कल्पना पांडे और अन्य पदाधिकारियों ने बच्चे को रोता हुआ देखा। उन्होंने बच्चे से पूछा तो बताया कि रिक्शा चालक उसे घर के बजाय यहीं छोड़कर चला गया है। आई कार्ड पर लिखे नंबर पर फोन कर कल्पना पांडे ने छात्र के पिता शाहिद को सूचना दी, जिसके बाद वे पहुंचे। इसके बाद सभी लोग छात्र को लेकर लिसाड़ी गेट थाने पहुंचे। छात्र अजहान के पिता मोहम्मद शाहिद ने बताया कि एक बार पहले भी ऐसा हुआ था। इसके बाद मंगलवार को इस तरह की दूसरी घटना हुई है। शाहिद ने स्कूल प्रबंधन के खिलाफ थाने में तहरीर दी है। हालांकि अभी मुकदमा दर्ज नहीं हो पाया है।

रिपोर्ट – राशिद खान

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here