Visitors have accessed this post 151 times.

एएमयू छात्र यूनियन ने ऐलान किया हैं कि राष्ट्रपति के साथ एएमयू परिसर में अगर कोई संघ स्वयंसेवक घुसा तो विरोध किया जाएगा। यूनियन के इस ऐलान को छात्रों ने गलत भी ठहराया है। कहा कि विरोध करके किसी और का नहीं, सिर्फ एएमयू का ही नुकसान होगा। अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी में सात मार्च को दीक्षांत समारोह है। समारोह में बतौर मुख्य अतिथि राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद पहुंच रहे है।

राष्ट्रपति के कार्यक्रम को लेकर छात्र यूनियन ने इंतजामिया को चेतावनी दी है। छात्र संघ अध्यक्ष मशकूर उसमानी ने कहा कि कहा कि वह राष्ट्रपति का स्वागत करते है, लेकिन उनके साथ यदि कोई संघ से जुड़ा व्यक्ति कार्यक्रम में पहुंचता हैं तो उसका पुरजोर विरोध किया जाएगा।

सचिव मो. फहद ने कहा कि रामनाथ कोविंद ने राष्ट्रपति बनने से पहले पिछड़े वर्ग के आरक्षण पर कहा था कि इस्लाम व ईसाईयत देश के लिए एलियन है। मतलब दूसरे ग्रह के लोग, विदेशी या अजनबी है। कोविंद का यह बयान आज भी एएमयू छात्रों को चुभता है। पूर्व छात्र संघ उपाध्यक्ष नदीम अंसारी पूर्व में ही चेतावनी दे चुके हैं कि राष्ट्रपति के साथ संघ का कोई व्यक्ति कार्यक्रम में पहुंचता हैं तो उसका विरोध किया जाएगा। उधर, एएमयू के छात्र नेता अजय सिंह ने कहा कि संघ की एंट्री पर विरोध का दावा करने वाले किसी और का नहीं, एएमयू का ही नुकसान करेंगे। उनकी यह हरकत बचकाना व बेहद फुहड़ है। इसका नुकसान उठाना पड़ सकता है।

उधर, एएमयू स्टूडेंट यूनियन के पूर्व अध्यक्ष अब्दुल हाफिज गांधी ने बयान जारी कर कहा कि राष्ट्रपति का पद एक संवैधानिक पद है। एएमयू में उनके आने का विरोध नहीं होना चाहिए। विरोध से एएमयू की प्रतिष्ठा का नुकसान होगा।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here