Visitors have accessed this post 150 times.

हाथरस : महाराष्ट्र में दो संतों व उनके ड्राइवर की हत्या पर विद्वान समाज में बेहद आक्रोश व नाराजगी व्याप्त है। इस घटना पर शहर के सुप्रसिद्ध कथावाचक आचार्य सीपूजी महाराज ने सर्वप्रथम मृतक साधुओं को श्रद्वांजलि अर्पित करते हुए कहा कि जिस भारत में कभी संतों की रक्षा के लिए लोग अपने प्राणों की आहुति देते थे। आज यहां पर पुलिस की मौजूदगी में उन्मादी भीड़ के हाथों साधुओं की नृशंस हत्या हो रही है। पुलिस-प्रशासन वहां पर खड़ा होकर तमाशाबीन बनकर साधुओं की हत्या का तमाशा देख रहा है और वह संतों को बचाने के लिए कोई भी प्रयास नहीं कर रहा है। घटना स्थल पर मौजूद पुलिस कर्मियों का रवैया बहुत ही गैर जिम्मेदाराना है, ऐसे पुलिसकर्मियों के खिलाफ महाराष्ट्र सरकार को सख्त से सख्त और बहुत जल्दी तत्काल कार्यवाही करनी चाहिए। महाराष्ट्र सरकार को मामले की तत्काल उच्च स्तरीय जांच करवाकर भीड़ में शामिल सभी दोषियों को जल्द चिन्हित करके उन सभी के खिलापफ फास्टट्रैक कोर्ट में मामला चला कर ऐसी सख्त कार्यवाही करनी चाहिए जो भविष्य में भीड़तंत्रा के रूप में इकट्ठा होकर आयेदिन कानून हाथ में लेने वालें लोगों के लिए भविष्य में नजीर बन जाये।

इनपुट : राहुल शर्मा

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here