Visitors have accessed this post 173 times.

पूरी खबर के लिए क्लिक करें

 

जलेसर तहसील क्षेत्र में राशन वितरण प्रणाली बनी मखौल।

शासनादेश के बावजूद भी नहीं दिया जा रहा है राशन कार्ड धारकों को राशन और मुफ्त चावल ।

बगैर राशन और चावल के गरीब मजदूर लोक डाउन में कैसे करें गुजारा।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के आदेशों की उड़ाई जा रही है सरेआम धज्जियां।

राशन कार्ड धारकों की शिकायत पर नही होती हैं कोई कारवाई ।

राशन वितरण व्यवस्था में व्याप्त भ्रष्टाचार की लेकर खुली पोल।

जलेसर तहसील क्षेत्र के ब्लॉक अवागढ़ के गांव नूहखास का है मामला।

नूह खास राशन डीलर राजेंद्र सिंह द्वारा सीएम योगी की मंशाओं को लगाया जा रहा है पलीता।

राशन डीलर की मनमानी से राशन कार्ड धारकों के समक्ष है परिवार के भरण पोषण का संकट।

एसडीएम जलेसर ने बीते 3 अप्रैल को राशन की दुकान पर मारा था छापा।

छापेमारी में मिली थी तमाम अनियमितताएँ,लॉक डाउन की पूर्णतः उड़ती मिली थी धज्जियाँ।

फिर भी न जाने क्यों नही हुई राशन डीलर के विरुद्ध कोई कार्रवाई।

अफसरों की कार्रवाई से बैखोफ राशन डीलर ने सैकड़ो परिवारों को नही दिया मुफ्त चावल।

जरूरतमंद गरीब मजदूर लोग लॉक डाउन में कैसे करें गुजारा।

राशन कार्ड धारकों ने सीएम योगी और डी एम एटा से लगाई राशन दिलाने की गुहार।

 

 

 

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here