Visitors have accessed this post 38 times.

मेरठ : बीएसपी प्रमुख मायावती सोमवार को अपना 62वां जन्मदिन मनाएंगी। इस अवसर पर वह ‘मेरे संघर्षमय जीवन और बीएसपी मूवमेंट का सफरनामा’ भाग-13 बुक का विमोचन करेंगी। इसे ‘ब्लू बुक’ नाम दिया गया है। किताब में पार्टी के खड़ा होने के शुरुआती संघर्ष की गाधा है। इसी संघर्ष से सीख लेकर एक बार फिर पार्टी को मजबूती देने के लिए बीएसपी वर्करों को संकल्प दिलाया जाएगा। इस अवसर पर शब्बीरपुर हिंसा में दलित उत्पीड़न की सीडी भी दिखाई जाएगी। मायावती का मानना है कि ‘ब्लू बुक’ पर पूरा ध्यान लगाने के बाद वर्करों की मेहनत से फिर से पहले जैसा ‘नीला सैलाब’ आ सकता है।

के बाद बीएसपी भी सतर्क हो गई है। जिला स्तर पर होने वाले मायावती के बर्थडे सेलिब्रेशन के मौके पर सहारनपुर हिंसा में शब्बीरपुर कांड के तहत दलित उत्पीड़न के मुद्दे पर बनाई गई सीडी दिखाई जाएगी। जिससे दलितों में संदेश दिया जा सके कि वह उनके साथ होने वाले अन्याय को भूली नहीं हैं। उनके लिए मायावती ने राज्यसभा की सदस्यता से इस्तीफा दे दिया, उसे भी दलितों को याद दिला जाएगा।

सत्ता से दूर हो चुकी मायावती फिर से सीएम की कुर्सी हासिल करने की जुगत में हैं। नगर निकाय चुनाव के रिजल्ट से बीएसपी के हौसले बुलंद हैं। ब्लू बुक के माध्यम से कार्यकर्ताओं को बताया जाएगा कि बीएसपी को अस्तिव में आने से रोकने के लिए किस-किस तरीके से विरोधियों ने साजिश की और उनसे कैसे बचा गया। एक बार फिर बीएसपी को घेरने, रोकने और समाप्त करने की राजनीतिक साजिश हो रही है। इससे बचने के लिए हर कार्यकर्ता को ‘ब्लू बुक’ पढ़ना चाहिए। सोमवार के कार्यक्रम में कार्यकर्ताओं को संगठन की तरफ से होने वाले सम्मेलनों, आयोजनों और बैठकों में पार्टी को खड़ा करने के लिए जी जान से काम करने का संकल्प दिलाया जाएगा।

 

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here