Visitors have accessed this post 272 times.

सिकंदराराऊ (हाथरस) : निर्जला एकादशी का पर्व श्रद्धालुओं ने श्रद्धा पूर्वक कर मनाया। श्रद्धालुओं ने निर्जल रहकर उपवास रखकर भगवान विष्णु की आराधना की और देश में फैली कोरोना महामारी के अंत की कामना की । निर्जला एकादशी के पावन पर्व पर श्रद्धालुओं ने खरबूज , पंखा , घड़ा आदि का दान कर पुण्य लाभ कमाया । हिन्दू धर्म में मान्यता है कि जेष्ठ माह में पड़ने वाली एकादशी को निर्जला एवं भीमसेनी एकादशी कहा जाता है। यह एकादशी साल में एक बार पड़ती है और 24 एकादशी में सबसे बड़ी होती है । निर्जला एकादशी का उपवास रखने पर सभी एकादशी का भक्तों को फल मिलता है।

इनपुट : अनूप शर्मा

यह भी पढ़े : मनुष्य के पाप कर्मों द्वारा मिलने वाली सजाएं

अपने क्षेत्र की खबरों के लिए डाउनलोड करें TV30 INDIA एप

https://play.google.com/store/apps/details?id=com.tv30ind1.webviewapp