Visitors have accessed this post 186 times.

पूरी खबर के लिए क्लिक करें

गोवर्धन में ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्वविद्यालय में मातेश्वरी जगदंबा का स्मृति दिवस मनाते अनुयायी मातेश्वरी जगदंबा सरस्वती का स्मृति दिवस मनाया गया समाज को जीवन में आगे बढ़कर अच्छे चरित्र के निर्माण के लिए प्रेरित किया ।

गोवर्धन। प्रजापिता ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्वविद्यालय में मातेश्वरी जगदंबा सरस्वती का 55 वां स्मृति दिवस मनाया गया। समाज को प्रेरित करने वाली मातेश्वरी के स्मृति दिवस कार्यक्रम में ब्रह्माकुमारी संतोष बहन ने कहा कि मातेश्वरी जगदंबा ने अपना जीवन बचपन से ही ईश्वरीय कार्य में लगाया है। उनकी भाषा शैली बहुत ही सरल और शालीनता भरी थी। वे सोलह साल की उम्र में आई और समाज में मातृ शक्ति को बढ़ाने का कार्य अपनी जीवन शैली से करके दिखाया। निराकार परमात्मा की शक्ति के कारण ही उन्होंने मां जैसा अहसास कराया। उनका जीवन जगदम्बा, सरस्वती व लक्ष्मी के स्वरूप में समाहित था। उन्होंने हमेशा समाज को एक अच्छे चरित्र के निर्माण के लिए प्रेरित किया। इस अवसर पर राजकुमार शर्मा, हीरालाल, आदर्श, प्रशांत, राधिका, चंचल, गुड्डी, वैष्णवी, मोहन श्याम, दीक्षा आदि थे।