Visitors have accessed this post 166 times.

इंटर का परीक्षा परिणाम जानने से पहले ही शनिवार की रात को अपनी जीवनलीला समाप्त करने वाला प्रेमी युगल किताबी जंग भी नहीं जीत पाया। दो जवान मौत से गम में डूबे परिजन भी रविवार को उनके नतीजे नहीं देख पाए। सोमवार को कुछ रिश्तेदारों ने इसकी पड़ताल की तो पाया दोनों ही इंटर की परीक्षा में फेल हुए हैं।

गंगीरी थाना क्षेत्र के गांव नगला बीधा निवासी मोहरश्री पुत्री वीरपाल सिंह और गांव का ही राधेलाल पुत्र किशोरीलाल काफी समय से प्यार की पींग बढ़ा रहे थे। दोनों ही इंटरमीडिएट में थे। परीक्षा के बाद दोनों के बीच साथ जीने-मरने के वायदे होने लगे। दोनों हसीन सपनों में खोकर हकीकत को भूलने लगे। दोनों को शायद इसका आभास भी था कि उनके मिलन में गांव और समाज आड़े आ सकता है। अनजान डर के चलते उन्होंने शनिवार को आत्मघाती और खौफनाक कदम उठाया।

इसमें सबसे खास बात यह है कि रविवार को यूपी बोर्ड के दसवीं और इंटर का परीक्षा परिणाम भी आना था, लेकिन इसकी फ्रिक उन्हें दूर-दूर तक नहीं थी। परिणाम से एक दिन पहले ही दोनों ने दुपट्टे से फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली। रविवार को जब इंटरमीडिएट का परीक्षा परिणाम घोषित हुआ तो गम में डूबे परिजन रिजल्ट देखना भी भूल गए। सोमवार को मोहरश्री के भाई सत्यपाल ने बताया कि मोहरश्री को मात्र दो सौ नंबर मिले।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here