Visitors have accessed this post 175 times.

भारतीय तेज़ गेंदबाज़ जसप्रीत बुमराह को लगता है कि सेंचुरियन में खेला जा रहा दूसरा टेस्ट में दोनों टीमों के पास जीतने का बराबरी का मौका हैं. बुमराह ने कहा कि टीम इंडिया चौथे दिन दबाव बनाने की कोशिश करेगी ताकि पहले सेशन में विकेट मिल सकें.

बुमराह ने दूसरी पारी में शानदार स्पेल के साथ शुरुआत की. जिसकी बदौलत उन्हें एडिन मार्करम और हाशिम अमला जैसे बड़े विकेट मिले. बुमराह ने कहा, “हमारा प्लान धीरे-धीरे प्रैशर डालने का था. दोनों छोर से हम बल्लेबाज़ों पर दबाव बनाना चाहते थे. ताकि रन बनाने के लिए वो बेताब हो जाएं और ग़लतियां करें. तो हमारा फोकस दबाव बनाने पर था. हमारा यही प्लान होता है जिससे हमें मदद भी मिल रही है.”

मैच के तीसरे दिन जब बारिश शुरू हो गई तो विराट कोहली मैच रेफरी और अंपायर से बहस करते दिखे. इस बारे में बताते हुए बुमराह ने कहा, “भारतीय टीम खेलना चाहती थी. लेकिन जब हम वापस आए तो मैदान गीला था. गेंद जब बाउंड्री पर गई तो गीली हो गई. हमने अंपायर से पूछा कि इस बारे में क्या करना है. हमें बॉल सूखी चाहिए. बॉल स्विंग हो रही थी इसलिए हर तरफ से गीली हो गई और फिर स्विंग नहीं हुई. हम अंपयार से इसी बारे में बात कर रहे थे. भारत अच्छा खेल रहा था इसिलए टीम खेल जारी रखना चाहती थी. लेकिन हम निराश नहीं हैं.”

बुमराह ने एबी डिविलियर्स की तारीफ करते हुए कहा, “सभी ये जानते हैं कि एबी डिविलियर्स एक वर्ल्ड क्लास खिलाड़ी हैं. उनके सामने गेंदबाज़ी करना बहुत चुनौतीपूर्ण होता है. एबी लगातार कई सालों से साबित करते आए हैं. हर मैदान पर उनके नाम रिकॉर्ड्स हैं. वो एक कमाल के खिलाड़ी और उनके साथ खेलकर मेरा हौसला बढ़ता है. मैंने इस मौके का पूरा फायदा उठाया और काफी कुछ सीखा.” आपको बता दें कि इस सीरीज़ में डेब्यू करने वाले बुमराह एबी को दो बार पवेलियन भेज चुके हैं.

कप्तान के बारे में बुमराह ने कहा, वो बहुत ही ख़ास पारी थी, विराट जब भी मैदान पर उतरते हैं अच्छा ही करते हैं. भारत के लिए वो पारी बहुत ज़रूरी थी और विराट ख़ुद ज़िम्मेदारी ली और कप्तानी पारी खेल टीम को संभाला.

बुमराह की बॉल पर डीन एल्गर आउट होने से बच गए. पार्थिव पटेल कैच लेने में नाकाम हुए. इस बारे में बुमराह ने बोला, ‘ये सब होता रहता है, खेल का हिस्सा है. आप सख़्त नहीं हो सकते क्योंकि काफी खेल बचा है. हन उनका मज़ाक नहीं उड़ा सकते और उन पर दबाव नहीं बना सकते. हमें उस कैच को भूलकर आगे का सोचना होता है

 

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here