Visitors have accessed this post 65 times.

एटा : उत्तर प्रदेश की योगी सरकार प्रदेश में भयमुक्त वातावरण के लिए जहां अपराध व अपराधियों को नेस्तनाबूद करने पर आमादा है। तो वहीं तेज तर्रार वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक सुनील कुमार सिंह अपने कुशल निर्देशन में अपने अधीनस्थ योग्य पुलिस अधिकारियों के साथ समन्वय बनाए रखते हुए। जुर्म के खिलाफ बगावत पर उतारू होकर पिछले एक वर्ष से जिले में अपराधियों की नींद हराम कर उन्हें या तो जेल के सीखचों में कैद किऐ हैं। अथवा जिले से पलायन को मजबूर करते हुए बेहतर कानून व्यवस्था के माध्यम से समाज में स्वच्छ व सुन्दर भयमुक्त वातावरण का माहौल पैदा कर जनता जनार्दन को रामराज्य की कल्पना से साकार करने का प्रयास किए हैं। अपराध एवं अपराधियों के समूल खात्मे की कार्यप्रणाली के साथ ही वर्ष 2020 के प्रारम्भिक दौर में होली के त्यौहार के पश्चात से प्रारम्भ हुई। कोविड-19 महामारी में भी अपनी जान की परवाह किए बगैर वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक सुनील कुमार सिंह अपने अधीनस्थों व जिले के जाबांज पुलिस के जवानों का कुशल नेतृत्व करते हुए भीषण गर्मी में जमीन पर उतरकर जनहानि को रोकने के लिए अपने हाथों से राहगीरों को मॉस्क पहनाकर तथा मॉस्क पहनने एवं दो गज की दूरी बनाये रखने तथा अधिकांशतः घर पर ही सुरक्षित रहने के लिए जागरूकता का अहम रौल निभाते हुए कोविड-19 महायोद्धा की भूमिका में नजर आए हैं।खाकी वर्दी में भी फरियादियों से व्यवहारिक वार्तालाप के जरिए उनकी समस्या के निस्तारण में अग्रणी भूमिका निभाकर पीडित के चेहरे पर मुस्कान लाने की कबायद एवं किसी भी गंभीर घटना के कारित होने पर तत्काल घटनास्थल पर पहुंचकर समस्या के समाधान के लिए पुलिस को दिशानिर्देशित उसका शीघ्रतम अनावरण उनकी कार्यपद्धति का अहम हिस्सा रही है। वर्ष 2020 के प्रारम्भिक दौर से अंतिम होने जा रहें हैं। इस दौर के मध्य समय पर यदि हम नजर दौडाऐं तो ऐसी तमाम घटनाऐं जिले में कारित हुईं है। जिनके शीघ्र खुलासे ने एटा पुलिस को गौरवान्वित ही नहीं किया बल्कि जनता के दिलों में एटा पुलिस के प्रति अटूट विश्वास उतपन्न हुआ। तथा एटा पुलिस के बेहतर कार्य प्रबंधन के लिए प्रदेश सरकार ने भी वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक सुनील कुमार सिंह को प्रोत्साहित किया। बहराहल वर्ष 2020 के प्रारम्भ माह जनवरी से समाप्त होते वर्ष के अंतिम माह दिसम्बर के दौरान जिले में अपराध एवं अपराधियों के विरुद्ध एटा पुलिस वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक सुनील कुमार सिंह के निर्देशन में जो सराहनीय कार्य किये उन पर नजर घुमायी तो पाया कि जिले में गौवध अधिनियम के अंतर्गत दो लोगों पर एन. एस. ए .की कार्यवाही की गयी। तो वहीं 358 खूंखार अपराधियों पर गैगंस्टर की कार्यवाही सुनिश्चित की गयी। एवं गुन्डा एक्ट में पाबंद किए गए। 337 अपराधियों में से 6 गुन्डों को जिला बदर होने के बावजूद भी जिले की सीमा में पाये जाने पर गिरफ्तार कर जेल भेजा गया। तथा गौवध अधिनियम के तहत 22 अभियुक्तों के विरुद्ध गैगंस्टर की कार्यवाही सुनिश्चित की गयी। एवं शस्त्र अधिनियम के अंतर्गत 553 अपराधियों पर प्रभावी शिकंजा कसकर जेल भेजा गया। तो वहीं आबकारी अधिनियम के अंतर्गत 747 शराब माफियाओं को जेल भेजा गया। एवं नॉरकोटिक अधिनियम में 48 लोगों का न्यायालय चालान किया गया। तो 73 इनामिया शातिर अभियुक्तों को गिरफ्तार कर जेल के सीखंचो में कैद किया गया। इसके साथ ही जिले के सम्बन्धित थानों में 95 हिस्ट्रीशीट अपराधियों की निगरानी की जा रही है। कुल मिलाकर जनवरी से अब तक 8908 अपराधियों की गिरफ्तारी कर जेल भेजा गया। तो बढते पुलिस दबाब के चलते 272 अपराधियों ने माननीय न्यायालय में आत्मसमर्पण कर दिया। समूचे वर्ष एटा पुलिस का अपराधियों पर प्रभावी नियंत्रण देखा गया। जिससे जिले में भयमुक्त वातावरण का माहौल आमजन द्वारा महसूस किया गया।

input : arvind yadav

यह भी पढ़े : टेम्पो में छात्रा के साथ रेप की वारदात

अपने क्षेत्र की खबरों के लिए डाउनलोड करें TV30 INDIA एप

https://play.google.com/store/apps/details?id=com.tv30ind1.webviewapp

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here