Visitors have accessed this post 250 times.

मथुरा वृंदावन की होली पूरी दुनिया में विख्यात है यहां होली बसंत पंचमी से प्रारंभ हो जाती है यहां के हर मंदिर एवं गांव में 40 दिनों तक होली का त्यौहार मनाया जाता है ब्रज क्षेत्र में कई तरह से होली मनाई जाती है सबसे पहले यहां पर लड्डू की होली खेली जाती है इस दिन राधा रानी के गांव बरसाना में फाग आमंत्रण का उत्सव मनाया जाता है जिसमे सभी एक दूसरे के उपर लड्डू लुटा कर लड्डू की होली मनाते हैं लड्डू की होली के बाद यहां पर फूलों वाली होली खेली जाती है मथुरा के श्री द्वारकाधीश मंदिर में कई तरह के रंग बिरंगे और सुगन्धित फूलों से होली खेली जाती है आपको बता दे की वृंदावन के बांके बिहारी मंदिर मैं प्रत्येक वर्ष फूल वाली होली मनाई जाती है यह होली खेलने के लिए लोग दूर-दूर से आते हैं इसके बाद यहां पर छड़ीमार होली प्रारंभ हो जाती है यह छड़ीमार होली गोकुल मनाई जाती है पौराणिक मान्यताओं के अनुसार, गोकुल में भगवान श्रीकृष्ण बाल रूप में रहे थे इसलिए कान्हा को लाठी से चोट लग सकती थी. उन्हें ज्यादा चोट न लगे इसलिए छड़ी से होली खेलती हैं फिर इसके बात यहां पर गुलाल की होली खेली जाती है जिसमें सभी एक दूसरे को बड़े ही प्रेम पूर्वक एक दूसरे को गुलाल लगाते हैं |

INPUT – Sapna Saxena

अपने क्षेत्र की खबरों के लिए डाउनलोड करें TV30 INDIA ऐप

https://play.google.com/store/apps/details?id=com.tv30ind1.webviewapp