Visitors have accessed this post 36 times.

चुनावो को लेकर सय और मात की चाल सुरु हो गई है,राजनीति की चाबी को हथियाने के लिए तमाम तरह के हतकंडे अपनाए जारहे है ,विशेष वर्ग को लुभाने के लिए पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश के द्वारा किया गया ट्वीट अब उनके गले की फांस बन गया है,अखिलेश यादव के द्वारा एएमयू के संस्थापक सर सैयद की पुण्यतिथि पर अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय के नाम की जगह पर अलीगढ़ विश्वविद्यालय के संस्थापक को नमन करना महंगा पड़ गया है जिसको लेकर सियासी पार्टियों के द्वारा अखिलेश की आलोचना सुरु करदी है,

दरअसल पूरा मामला अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय को लेकर है जहां आज एएमयू के संस्थापक सर सैयद अहमद खां की पुण्यतिथि को एएमयू सुरु से ही मनाती चली आरही है वहीं आज सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष व पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के द्वारा सोसल मीडिया के माध्यम से सर सैयद अहमद खां को नमन किया गया ,अखिलेश यादव के द्वारा अपनी निजी सोशल साइट जे माध्यम से अपने ब्लॉग में अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय की जगह पर अलीगढ़ विश्वविद्यालय का नाम दर्शाते हुए एएमयू के संस्थापक की पुण्यतिथि पर नमन किया,जिसमें उनके द्वारा मुस्लिम शब्द गायब करने से सियासी गलियारों में हड़कम्प मच गया है,वहीं औवेसी पार्टी के प्रवक्ता अदील अल्वी के द्वारा अखिलेश यादव पर जमकर तंज कसे गए उनके द्वारा कहा गया ये वहीं लोग है जो विशेष समुदाय को अपना हितैसी बताते है लेकिन उन्हीं लोगों से परहेज करते है ,औवेसी पार्टी के प्रवक्ता जे द्वारा कहा गया अखिलेश यादव के द्वारा आज दो फोटो शेयर किए गए एक मे हिन्दू विश्विद्यालय दूसरे में अलीगढ़ विश्वविद्यालय नाम दर्शाया गया है जबकि मुस्लिम शब्द का नाम लेने से परहेज किया गया जो सीधे तौर पर विशेष वर्ग का अपमान है |

INPUT – मोहम्मद शाहनवाज