Visitors have accessed this post 58 times.

उत्तर प्रदेश के जिला अलीगढ़ से तालाबों में भारी संख्या में मछली मरे होने का मामला सामने आया है
जहां एक और उत्तर प्रदेश में कोरोना के बढ़ते संक्रमण ने आम जनमानस को अस्त-व्यस्त कर दिया है तो वही अलीगढ़ के विभिन्न तालाबों में मर रही मछलियों ने एक बार फिर प्रशासन की चिंता को बढ़ा दिया है ये मछलियां शाम को दाना खाने के बाद सुबह मरी हुई पाई जाती हैं जो कहीं ना कहीं गंभीर विषय है
दरहसल अलीगढ़ के खैर,जट्टारी,टप्पल एवं अनेकों तालाबों में दिन प्रतिदिन मछलियों के मरे होने की सूचनाएं प्राप्त हो रही हैं जिसकी वीडियों पूर्व विधायक जमीरउल्लाह ने उपलब्ध कराई हैं जो कहीं ना कहीं प्रशासन की चिंता को बढ़ावा दे रही हैं यह मछली मरे होने के बाद भी बाजारों में बिक्री के लिए लाई जाती हैं और कम दामों में बेची जाती है जिससे गरीब तबके के लोग इन्हें खरीदते हैं और खाते हैं
जिससे कहीं ना कहीं गरीब लोग घातक बीमारियों का शिकार हो सकते हैं

पूर्व विधायक जमीर उल्लाह ने बताया कि अलीगढ़ के ज्यादातर तालाबों का यही हाल देखने को मिल रहा है प्रतिदिन 400 से 500 किलो मछलियां मर रहे हैं मरने के बाद ये मछलियां बाजारों में आएंगी जिससे निश्चित ही गरीब इन्हें खाएंगे जो कहीं न कहीं एक गंभीर बीमारी को बढ़ावा देंगे इससे पहले ये बीमारी व्यापक रूप ले मैं मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ एवं अलीगढ़ जिलाधिकारी से मांग करता हूं कि इन तालाबों की जांच होनी चाहिए जिससे पता चल सके कि आखिर ये मछलियां क्यों मर रहीं हैं
वैसे ही कोविड संक्रमण से त्राहि मची हुई हैं ऐसे में ये मछलियां मरने की बीमारी शुरू हो गई अगर इसकी जांच नहीं हुई तो यह जनपद के लिए घातक सिद्ध हो सकती है |

INPUT – Mo. Sahenwaj

sasni new wave

अपने क्षेत्र की खबरों के लिए डाउनलोड करें TV30 INDIA ऐप

http://is.gd/ApbsnE