Visitors have accessed this post 33 times.

कोरोनावायरस की दूसरी लहर ने पूरे भारतवर्ष को एक बड़े संकट में डाल रखा है अगर उत्तर प्रदेश की बात की जाए तो उत्तर प्रदेश के कुछ जिलों में कोरोनावायरस अपना कहर बरपा रहा है औद्योगिक नगरी कानपुर में स्थिति बद से बदतर होती जा रही है इसी को देखते हुए माननीय उच्च न्यायालय में 5 जिलों में लॉकडाउन लगाने के निर्देश दिए थे जिसे योगी सरकार ने सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दी थी और लॉकडाउन लगाने से मना कर दिया था अगर कानपुर की बात की जाए तो यहां पर किसी भी कॉविड अस्पताल में बेड नहीं खाली हैं अगर घाटों की बात की जाए तो बिना कोरोनावायरस बीमारी से ग्रसित लोगों की अर्थी की लाइन घाटों में लगी हुई है कई घाटों का यह हाल है कि यहां पर कई घंटों का परिजनों को करना पड़ रहा है अंतिम संस्कार करने के लिए यही देखने के लिए अब हम कानपुर के दोहरीघाट पहुंचे तो यहां का मंजर बहुत ही भयावह था लाशों के जलाने के लिए सरकार के द्वारा जो व्यवस्था की गई है वहां पर दोपहर 12:00 बजे तक की कई लाशों को जलाया जा चुका था और घाटों में लाशों के आने का क्रम जारी था इसके बाद गंगा के किनारे हैं लाशों का अंतिम संस्कार वहां पर मौजूद पंडो द्वारा किया जाने लगा कोरोनावायरस महामारी को देखते हुए कई अहम नियम बनाए गए पर वह नियम यहां पर आकर दम तोड़ देते हैं क्योंकि अगर आप घाटों में नजर डालेंगे तो आपको परेशान चिंतित परिजन ही दिखाई देंगे शहर में अस्पतालों में इलाज नहीं मिल पा रहा है सभी दावे केवल कागजों तक सीमित रह गए इसके बावजूद प्रशासन द्वारा कई बड़े दावे किए जा रहे हैं जोकि दिखाई नहीं दे रहा है किसी भी घाट में पुलिस की कोई भी व्यवस्था नहीं की गई है ना ही कोई ऐसा उच्च अधिकारी है जो यह व्यवस्था देख सकें की लाशों का अंतिम संस्कार सही ढंग से हो सके मनमाने तौर पर अंतिम संस्कार के लिए पैसे वसूले जा रहे हैं रातों तक अंतिम संस्कार का क्रम चल रहा है अगर कानपुर नगर की बात की जाए तो यहां प्रतिदिन हजार के ऊपर कोरोनावायरस से ग्रसित मरीजों की संख्या निकल कर सामने आ रही है और वर्तमान समय की बात की जाए तो कानपुर में कोई भी कोविड-19 का ऐसा अस्पताल नहीं है जहां पर बेड खाली हो इलाज के अभाव में लोग एंबुलेंस स्ट्रेचर में दम तोड़ रहे हैं अगर बात डॉक्टरों की जाए तो वह भी इस कोरोनावायरस एक महामारी दिन रात लगे हुए हैं पर बेड के अभाव में उनका भी दायरा सीमित कर दिया हर जगह केवल आपको बेबस व्यक्ति दिखाई देगा जो अपने मरीज को इलाज के लिए अस्पताल ले कर जा रहा है पर कोई भी सुनवाई नहीं हो रही यह स्थिति आखिर कब समान होगी कोई भी हल निकल कर नहीं सामने आ रहा स्थिति बहुत ही भयानक और दर्दनाक होती जा रही है

input : अभय ठाकुर

यह भी पढ़े : इस गर्मी भरे मौसम में कैसे रखें अपनी त्वचा का ध्यान

अपने क्षेत्र की खबरों के लिए डाउनलोड करें TV30 INDIA एप

http://is.gd/ApbsnE

sasni new wave