Visitors have accessed this post 56 times.

अलीगढ़ : प्रशासन आक्सीजन की कमी होने से इंकार कर रहा हो, लेकिन हकीकत इससे कोसों दूर है, रविवार को आक्सीजन की कमी से रिटायर्ड पीएसी कर्मी की मौत हो गई , इस दौरान परिजनों ने दीन दयाल उपाध्याय संयुक्त चिकित्सालय पर लापरवाही का आरोप लगाते हुए हंगामा किया, आक्रोशित परिजनों ने डाक्टरों से हाथापाई कर दी,सूचना पर पुलिस पहुंच गई, और पीड़ित परिजनों को शांत कराया, घटना थाना क्वार्सी के दीन दयाल उपाध्याय संयुक्त चिकित्सालय की है, मामले में सीएमओ डा बीपी सिंह ने बताया कि दुखद वातावरण चल रहा है, संसाधन पूरा करने की कोशिश की जा रही है,लेकिन मरीज बढ़ते जा रहे हैं, मारपीट की घटना से स्वास्थ्यकर्मी नाराज है,और ऐसे माहौल में काम नहीं करने की चेतानवी दी है,वहीं सीएमओ ने कोविड अस्पताल की सुरक्षा के लिए पीएसी की मांग की है,

अलीगढ़ में यह पहला वाकया नहीं है जब आक्सीजन की कमी से कोविड मरीज की मौत हुई हो,इससे पहले भी आक्सीजन की कमी से एसजेडी सुपरस्पेशलिटी अस्पताल में पांच मरीजों की जान चली गई, जिस पर जिलाधिकारी चंद्र भूषण सिंह ने जांच बैठाई है, एक बार फिर घटना की पुनरावृत्ति हुई है.रविवार को तीन दिन से भर्ती रिटायर्ड पीएसी कर्मी शिरोमन सिंह को सरकारी अस्पताल में आक्सीजन नहीं मिल सकी,और तड़प-तड़प कर उनकी जान निकल गई, तब अस्पताल कर्मियों ने हालत गंभीर बता परिजनों को सूचना दी,   परिजन जब पहुंचे तो पीएसी कर्मी की सांसे थम चुकी थी, ये देख कर परिवार आक्रोशित हो गये, मृतक की बेटियों ने बताया कि पापा की हालत आईसीयू में भर्ती करने के लिए थी, लेकिन सामान्य वार्ड में रखा था, और आक्सीजन भी नहीं दी गई,

यह भी पढ़ें : अलीगढ़ कासिमपुर पावर हाउस के डंपयार्ड में लगी भीषण आग
मृतक की बेटियों ने बताया कि जिला अस्पताल प्रशासन से आक्सीजन के लिए मिन्नतें करते रहें, लेकिन आक्सीजन नहीं दी गई, केवल पेट के बल लेटने को कहा गया, जब परिजनों ने पापा शिरोमन सिंह से मिलने की कोशिश की, तो मिलने नहीं दिया गया,परिजनों को अस्पताल के बाहर ही बताया कि पापा की तबियत ठीक है, वहीं रविवार को मोबइल कर बताया कि पापा की हालत गम्भीर है,जब परिजन अस्पताल में पहुंचे, तो शरीर ने हरकत बंद कर दी थी, इसके बाद परिजनो का गुस्सा डाक्टरों और स्वास्थयकर्मियों पर फूट पड़ा, परिजनों ने डाक्टरों के साथ हाथापाई कर दी, घटना के बाद मौके पर पहुंची पुलिस और प्रशासन ने मामला शांत कराया, वहीं शव को परिजनों के सुपुर्द किया गया, मामले में सीएमओ ने बताया कि स्वास्थ्य कर्मी 24 घंटे काम कर रहे हैं, और वे भी कोरोना पाजिटिव हो रहे हैं, इससे मैन पावर भी कम हो रही है.उन्होंने बताया कि आक्सीजन समय समय पर कम हो जाती है. लेकिन इसे पूरा किया जाता है।

इनपुट : मोहम्मद शहनवाज़

अपने क्षेत्र की ख़बरों के लिए डाउनलोड करें TV30 INDIA ऐप – http://is.gd/ApbsnE

sasni new wave