Visitors have accessed this post 84 times.

अलीगढ़ : पोलिंग पार्टियां बुधवार को चौथे चरण का पंचायत चुनाव कराने के लिए रवाना हो गई । इस दौरान कोविड के नियमों का पालन नहीं कराया जा सका. तो वहीं बैलेट बॉक्स में कई खामियां नज़र आई. जंग लगे बैलेट बॉक्स को हथौड़े से खोलते मजदूर नजर आएं । बैलेट बॉक्स में ही काफी दिक्कत आ रही थी.मतदान कराने वाले कर्मी घंटो परेशान रहे. कुछ बॉक्स के ढक्कन ही नहीं खुल रहे थे । तो कुछ के बंद ही नहीं हो रहे थे. लोकतंत्र की राजनीति में सबसे छोटे चुनाव में ही जंग लगे बैलेट बॉक्स का उपयोग चुनाव आयोग कर रहा है. जिस चुनाव में निष्पक्षता और पारदर्शिता के वायदे किए जाते हैं. जिस बैलट बॉक्स में बैलेट पेपर पर ठप्पा लगाकर डाला जाता है वह मतपेटिकाएं जंग लगी हुई है. अंदर जाले लगे है.और पंचायत चुनाव से ठीक एक दिन पहले हथौड़े से ठोक पीट कर काम लायक़ बनाया जा रहा है । मतपेटिकाओं में ठोक पीट करते ये नजारा खैर ब्लॉक के खैर डिग्री कॉलेज का है. जहाँ मतपेटिकाओं को पंचायत चुनाव के ठीक एक दिन पहले सही किया जा रहा है.दअरसल मतपेटियां जंग लगी हुई है,जिसके ढक्कन या तो खुल नहीं रहे है.या फिर बंद ही नहीं हो रहे है । जिसको लेकर पोलिंग पार्टियां परेशान है.जिस मतपेटिका में लोकतंत्र का भविष्य सुरक्षित किया जाता है.उसी मतपेटिकाओं की हालत खस्ताहाल है.हालांकि कि विधान सभा व लोकसभा का चुनाव ईवीएम के जरिये होता है ।लेकिन यूपी में पंचायत चुनाव बैलेट पेपर के जरिये कराये जा रहे है.बैलेट पेपर को ही मतपेटिकाओं में डाला जाता है. मतपेटिकाओं में ऑटोमैटिक लॉक होता है. जिसे पीठासीन अधिकारी ही करते है.लेकिन मतपेटिकाओं के लॉक में ही खामियां है.जिसे हथौड़े से ठोक कर काम लायक बनाया जा रहा है

इनपुट :- मोहम्मद शाहनवाज

यह भी देखे : ऑनलाइन मोटर व्हीकल चालान को कैसे पता करें । हक़ की बात।

अपने क्षेत्र की खबरों के लिए डाउनलोड करें TV30 INDIA एप

https://play.google.com/store/apps/details?id=com.tv30ind1.webviewapp

sasni new wave