Visitors have accessed this post 36 times.

अलीगढ़ के थाना टप्पल इलाके के गांव नूरपुर में पिछले दिनों बारात चढ़त के दौरान उसमें हंगामा करने की तस्वीरें सामने आई थी। जिसके बाद गांव में दो समुदाय आमने-सामने आ गए। मारपीट हुई पथराव तक की नौबत आ गई। उसका रिजल्ट यह निकला कि अगले ही दिन गांव में एक पक्ष ने घरों के बाहर लिख दिया यह मकान बिकाऊ है। पलायन की यह बात सुनकर हर कोई हलकान रह गया और धीरे-धीरे गांव नूरपुर के अंदर हिंदूवादी आने जाने लगे। राज नेताओं का जमावड़ा लगने लगा। सांसद, पूर्व मेयर, विधायक ने भी बयान बाजी की। दोनों ही धर्मों के लोगों के बीच माहौल गर्म होता चला गया। अब नौबत यहां तक आ गई थी गांव नूरपुर के अंदर भारी मात्रा में पुलिस पिकेट तैनात कर दी गई और बाहरी व्यक्तियों का प्रवेश भी वर्जित कर दिया गया। आज रविवार के दिन कुछ हिंदूवादी संगठन गांव की ओर पहुंचे जिन्हें टप्पल इंटरचेंज के पास ही रोक लिया गया। इधर मौका मुआयना करने के लिए डीएम चंद्र भूषण सिंह और एसएसपी कलानिधि नैथानी भी भारी पुलिस बल के साथ ग्रामीणों से मिलने पहुंचे। एसएसपी कलानिधि ने बताया कि इस मामले में अब तक 5 लोगों की गिरफ्तारी की जा चुकी है। गांव वालों से बात करके पता चला है कि अब माहौल शांत है। वहीं जिला अधिकारी चंद्र भूषण सिंह ने कहा की सभी लोग मिल जुल कर रह रहे हैं, अब किसी भी प्रकार की कोई बात नहीं है। जो भी लोग गांव में पहुंच रहे हैं वह लोग भड़काऊ बयान बाजी ना करें। वही गाजियाबाद से एक हिंदूवादी संगठन की टोली पहुंची। जिन्होंने ने कहा कि हम अपने पक्ष के लोगों को भटकने नहीं देंगे ना ही उन पर अत्याचार होते देख सकते हैं। हिंदुस्तान में बाबा साहब का कानून चलेगा किसी और का नहीं,,,,।

input : moh sahenwaj

यह भी देखे : हाथरस के NINE to 9 बाजार में क्या है खास 

अपने क्षेत्र की खबरों के लिए डाउनलोड करें TV30 INDIA एप

http://is.gd/ApbsnE

sasni new wave