Visitors have accessed this post 151 times.

अलीगढ़ : सोमवार को अखिल भारत हिंदू महासभा के कार्यालय पर भारत में बढ़ता इस्लामिक जिहाद को लेकर एक विचार गोष्ठी आयोजित की गई थी। इस विचार गोष्ठी में गाजियाबाद के डासना मंदिर से स्वामी यति नरसिंहानंद ने कहा कि लव जिहाद में हिंदू युवतियों को प्रेम जाल फसाकर पहले उनसे शादी करना हैं।जिससे कि उनसे ज्यादा से ज्यादा बच्चे पैदा हों, हिंदुओं की आबादी रुके और धर्म परिवर्तन को तैयार ना हो तो उनकी हत्या कर देना। जिसके लिए मस्जिद एवं पीएफआई द्वारा बहुत बड़ी मात्रा में फंडिंग की जा रही है। जनसंख्या के आधार पर देश पर कब्जा करने की साजिश हो रही हैं। इसके लिए चार पत्नी चालीस बच्चों की योजना लगातार चली आ रही है। आजादी के समय नारा लगता था लड़के लिया है पाकिस्तान हंस कर लेंगे हिंदुस्तान। लोग समझ नहीं पाए आज जनसंख्या के आंकड़े बता रहे हैं कि वह हिंदुस्तान को हंसते-हंसते अपने कब्जे में करते चले जा रहे हैं। अर्थव्यवस्था पर बिहार में लाखों की संख्या में ऐसे कारखाने हैं। जिनका ना तो बैंक खाता है ना ही कोई लेखा-जोखा पूरे देश में चोर बाजार मुसलमान चलाते हैं। नंबर दो के जितने भी कारोबार हैं सब मुसलमान कर रहे हैं। जिससे कारोबार से कहीं ना कहीं देश की अर्थव्यवस्था को चोट पहुंच रही है। स्वामी नरसिंहानंद सरस्वती ने जनसंख्या नीति पर कहा की योगी आदित्यनाथ ने एक पहल की है। जनसंख्या नीति की उस पहल का स्वागत करता हूं। लेकिन इसके लिए कानून चीन के जैसा होना चाहिए। जिसमें दंडात्मक प्रावधान होने चाहिए। जब तक दंडात्मक प्रावधान नहीं होंगे इन कानूनों का कोई फायदा नहीं होगा। क्योंकि इन मुसलमानों जिहादियों को कोई सरकारी नौकरी नहीं चाहिए। लेकिन हमें चीन को फॉलो करना है। अगर यहां जिहादियों की सरकार बन गई और मुसलमान मुख्यमंत्री एवं प्रधानमंत्री बन गया। तो यहां किसी का मानव अधिकार नहीं होगा। फिर तो यहां पर दानवों के अधिकार रहेंगे। जैसे पाकिस्तान में और अफगानिस्तान में होता है। आप क्या चाहते हैं भारत को आप इस्लामिक देश बनाना चाहते हैं। वैसे भी मानव अधिकार मानव के होने चाहिए। जिनकी किताब में यह लिखा है कि दूसरों को मार दो। उनका कोई मानव अधिकार नहीं है। कुरान पढ़ कर मुझे यही लगा कि जो किताब दूसरों के कत्ल करने निर्दोष लोगों के कत्ल करने का आदेश देती हो और जो उस किताब में विश्वास करते हो उनको में मानव नहीं मानता। आंदोलन की कोई जरूरत नहीं है। कुरान को धरती से समाप्त होने का समय आ चुका है। थोड़े दिनों की बात है हम कर पाए या ना कर पाए। लेकिन दुनिया कुरान को जल्दी समाप्त करेगी। मेरा विषय है इस्लाम का जिहाद के बारे में अपने बच्चों को बताना हैं। पूरे मेहनत से इस्लाम के जिहाद के बारे में अपने बच्चों को बता रहा हूं। बच्चों के हाथ में बंदूक होनी चाहिए। अगर बच्चों के हाथ में बंदूक नहीं होगी तो जो जेहादी बचपन से ही अपने बच्चों को जानवर को काटने की प्रैक्टिस कराते हैं गोली चलवाते हैं। तो उससे हमारे बच्चे मुकाबला कैसे करेगे। जबकि हमारे यहां भी अर्जुन ने कर्ण ने अर्जुन अभिमन्यु ने क्या पढ़ाई छोड़ी थी पढ़ाई और युद्ध साथ-साथ करें। मानव और दानव दोनों हमेशा रहे हैं। हमेशा की लड़ाई है और चलती रहेगी। इसलिए हमारे लड़कों को युद्ध कला की ट्रेनिंग होनी चाहिए और में सरकार से इसकी मांग करता हूं भारत के हर हिंदू को युद्ध कला की ट्रेनिंग देना सरकार का दायित्व है। इसके लिए में सरकार से मांग करता हूं। जबकि लव जिहाद को बढ़ावा देने के लिए फिल्म बनाई गई है। बल्कि पूरा बॉलीवुड इसी काम में लगा हुआ है। बॉलीवुड की सफाई भी बहुत जरूरी है। जितने भी मुसलमान बॉलीवुड में है वह सारे के सारे जिहादी हैं। ऐसे जिहादियों का असली घर जेल होना चाहिए।इसके लिए कानून सख्त होना चाहिए। जो दूसरों की बहन बेटियों को बर्बाद करने का षड्यंत्र रचते हैं। मोहन भागवत और औरंगजेब का डीएनए एक होगा हमारा नहीं है। वह अपने डीएनए की बात करें। वह सब के ठेकेदार थोड़े ही हैं। वह अपने कार्यकर्ताओं की बात करें। मेरे डीएनए के ठेकेदार आरएसएस थोड़े ही हो जाएंगे। काठ की हांडी बहुत लंबी नहीं चढ़ती। जनता अपने आप बैन लगा देगी। अगर मोहन भागवत जैसे नेता RSS के होते रहे तो RSS को खत्म होने में ज्यादा दिन नहीं लगेंगे। देखिए 2029 की तैयारी पहले से हो चुकी है मुसलमानों में बच्चे हिंदुओं से ज्यादा हो चुके हैं। यह हो चुका है। कुछ अच्छा काम करें। चलिए एक कदम तो उठा। शुरुआत तो कहीं से हुई। अभी देखा जाएगा और भी अगर कानूनों की जरूरत पड़ी तो उनकी मांग की जाएगी। लेकिन फिर भी योगी जी ने कदम उठाया उनका धन्यवाद देता हूं। योगी ने हमारी आवाज सुनते हैं और उसी का समर्थन करते हैं। योगी के अलावा और किसी नेता का समर्थन नहीं करते।ब्लाक प्रमुख के चुनाव में महिलाओं के साथ मारपीट की घटना पर यति नरसिंहानंद सरस्वती ने कहा कि कहीं कोई इज्जत तार-तार नहीं हो रही है। आपको समाजवादी पार्टी और बसपा का समय याद नहीं है जहां बहुत बड़े बड़े बवाल हुआ करते थे। यहां जब सपा और बसपा का राज था। जो औरतों की इज्जत को तार-तार हो रही थी। और सड़कों पर बलात्कार हो रहे थे। कम से कम योगी ने ये तो रोक दिए और देखिए राजनीतिक मैटर है अगर राजनीति में कोई महिला घर से निकल कर गुंडागर्दी करेगी। और उसके 1 थप्पड़ मार दिया तो इसे गंभीरता से नहीं लेना चाहिए। महिलाओं का सम्मान है। लेकिन जो महिला गुंडागर्दी पर उतारू होंगे तो उसके लिए उसको तैयार रहना चाहिए। महिलाओं के सम्मान का अर्थ है थोड़ी है कि महिलाएं की गुंडागर्दी चलेगी। जहां भी दुनिया में जिहादियों का काम चलता है उसका फाइनेंसर सऊदी अरब है। वे चाहते हैं कि कश्मीर भारत से अलग हो। ओपेक से भारत सरकार को समझौता नहीं करना चाहिए। हम उनके सबसे बड़े बायर हैं हम उन से तेल खरीदते हैं और उनकी धमकी भी सहन करते हैं। अगर हम उनसे तेल ना खरीदें तो भूखे मर जाएंगे

यह भी देखे : हाथरस के NINE to 9 बाजार में क्या है खास 

अपने क्षेत्र की खबरों के लिए डाउनलोड करें TV30 INDIA एप

http://is.gd/ApbsnE

sasni new wave