Visitors have accessed this post 50 times.

सासनी : तीन दिन से इंद्र का कोप इतना बरसा कि क्षेत्र में कृषि भूमि जलमग्न हो गई। जिससे किसानों को भारी नुकसान उठाना पडेगा। हालांकि प्रशासनिक अफसर भी किसानों की इस समस्या केा लेकर चिंतित है। मगर कोई उपाय नहीं सूझने के कारण वह भी असहाय बने बैठे है।बता दे कि करीब तीन दिन से हो रही बरसात के कारण अलीगढ से होकर हाथरस की ओर जाने वाले नाले में उफान आ गया और रास्ते में पडने वाले गांव सिंघर्र, देदामई, जसराना, रूदायन, आदि के किसानों की जमीन पानी में डूब गई। यहां बच्चे खेतों में जाकर पोखर आदि के नहाने का आनंद उठाने लगे। हालांकि गांव सिंघर्र प्रधानपति और गांव रूदायन निवासी पूर्व सपा नेता आनंद पाठक ने किसानों की इस समस्या को लेकर आॅन लाईन शिकायत कर समस्या की मांग की थी। जिसमें कहा था कि सासनी रजवाहा अमरपुर की टेल से करीब 24. 350 किमी से निकलता है सासनी रजवाहा की आंतरिक अनुभाग की सफाई का कार्र कराया जा रहा है। शिकायत में कहा गया था। कि अक्टूबर तक संचालन किया जाता है पर्याप्त मात्रा में पानी किसानों को नहीं मिल पाता है। मगर बरसात के कारण इस रजवाहे में नाले का उफान आने के कारण पानी खेतों में आने पर किसानों का भारी नुकसान हो रहा है। सरकार को इस बारे में अवश्य ही कदम उठाने चाहिए।

यह भी देखे : हाथरस के NINE to 9 बाजार में क्या है खास 

अपने क्षेत्र की खबरों के लिए डाउनलोड करें TV30 INDIA एप

http://is.gd/ApbsnE

sasni new wave