Visitors have accessed this post 137 times.

उत्तर प्रदेश के सहारनपुर में पुलिस का अमानवीय चेहरा देखने को मिला. नगर कोतवाली क्षेत्र में गुरुवार रात हुए एक हादसे में दो घायलों को यूपी-100 गाड़ी के सिपाहियों ने इसलिए अस्पताल नहीं पहुंचाया क्योंकि गाड़ी गंदी हो जाती. जिसकी वजह से समय पर इलाज नहीं मिलने से दोनों ही नाबालिगों की मौत हो गई.

दरअसल दो नाबालिगों की बाइक अनियंत्रित होकर नाले में जा गिरी थी. जिसके बाद मौके पर मौजूद लोगों ने  दोनो युवकों को नाले में से निकला. दोनों को सिरों में चोट थी और खून बह रहा था. लोगों ने मौके पर मौजूद यूपी 100 के सिपाहियों से घायलों को अस्पताल पहुंचाने की विनती की, लेकिन उन्होंने गाड़ी गंदी होने का हवाला देते हुए अस्पताल ले जाने से इनकार कर दिया. लोग गिड़गिड़ाते रहे, लेकिन सिपाहियों का दिल नहीं पसीजा और वे युवकों को अस्पताल नहीं ले गए. इसके बाद स्थानीय लोगों ने दोनों को टैम्पों से अस्पताल पहुंचाया. लेकिन अस्पताल पहुंचने में हुई देरी से दोनों युवकों ने दम तोड़ दिया.

दोनों युवक की शिनाख्त अर्पित खुराना (17) और सन्नी (17) निवासी सेतिया विहार नुमाइश कैंप के रूप में हुई है. दोनों की मोटर साइकिल अनियंत्रित होकर बेरी बाग के मंगलनगर चौक पर एक खंभे से टकराने के बाद नाले में जा गिरी थी. अचानक से हुई तेज आवाज के बाद मौके पर पहुंचें स्थानीय लोगों ने इन दोनो युवकों को घायल अवस्था में नाले से निकाला, जिनके सिर से खून बह रहा था और गंभीर चोटें थी.

सूचना पर मौके पर पहुंची यूपी 100 से जब इन दोनो घायलों को अस्पताल ले जाने के लिए कहा तो उस पर मौजूद पुलिसकर्मियों ने कहा कि उनकी गाड़ी गंदी हो जाएगी और वह किसी टैंपों से ले जाएं. जिसके बाद लोग उनके सामने गिड़गिड़ाते रहे, लेकिन पुलिसकर्मी नहीं मानें. इस दौरान लोगों ने पुलिसकर्मियों की 3 मिनट 18 सैकेंड का वीडियो भी बनाया. अब ये वीडियो वायरल हो चुका है.

पूरी घटना का वीडियो वायरल होने व मिडिया में आने के बाद से पुलिस अधिकारियों ने कार्यवाही करते हुए डायल 100 गाडी पर तैनात तीन सिपाहियों के निलंबन के आदेश दिये है ।

यह भी पढ़े : मृत्यु से पहले होने वाले संकेत

अपने क्षेत्र की खबरों के लिए डाउनलोड करें TV30 INDIA एप

https://play.google.com/store/apps/details?id=com.tv30ind1.webviewapp

 

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here