Visitors have accessed this post 84 times.

हाथरस जिले के कुरसंडा के गांव मोतीगढी निवासी 28 वर्षीय भूपेंद्र सिंह पुत्र नेत्रपाल सिंह अपने परिवार के साथ मथुरा के ट्रांसपोर्ट नगर स्थित विष्णु पुरी मुहल्ले में रहता था। इस समय वह आर्मी में कमांडो के पद पर गुरुग्राम (हरियाणा)में तैनात था। रक्षाबंधन त्यौहार को मनाने वह अपने घर आया था। यहां से वह अपने मित्र के साथ स्विफ्ट डिजायर कार से यमुना एक्सप्रेस वे के रास्ते से अपनी ससुराल नौहझील (मथुरा) जा रहा था। यमुना एक्सप्रेस वे के माइलस्टोन 53 (थाना टप्पल अलीगढ़ क्षेत्र) के निकट उनकी कार आगे जा रहे कंटेनर में घुस गई,और दोनों मित्रों की मौके पर ही मौत हो गई। हादसे की जानकारी परिवार के लोगों को होने पर दोनों ही परिवारों में कोहराम मच गया।
सोमवार को आर्मी के जवान व साथी कमांडो, कमांडो के शव को लेकर गांव मोती गढ़ी पहुंचे। शव के गांव में पहुंचते ही परिवार के लोगों में करूण क्रंदन मच गया तथा कमांडो के अंतिम दर्शनों के लिए भारी संख्या में भीड़ जुट गई।
जानकारी मिलने पर पूर्व विधायक प्रताप चौधरी भाजपा नेता चौ. रूपेंद्र सिंह नंबरदार,चौ.पृथ्वी सिंह व तमाम पूर्व सैनिक पहुंच गए।
मानेसर हरियाणा की कमांडो की टीम तथा मथुरा से आर्मी जवानों की टीम ने अलग-अलग गार्ड ऑफ ऑनर देते हुए सलामी दी। उसके उपरांत मातमी धुनों के बीच कमांडो का अंतिम संस्कार किया गया। अंतिम संस्कार होते ही पूरा गांव गम के माहौल में डूब गया है।

अपने क्षेत्र की खबरों के लिए डाउनलोड करें TV30 INDIA एप

http://is.gd/ApbsnE