Visitors have accessed this post 71 times.

श्रावस्ती(ब्यूरो)समस्याओं से पीड़ित महिलाओं/बालिकाओं को त्वरित न्याय देने के लिए प्रदेश सरकार प्रतिबद्ध है। इसलिए सम्बन्धित विभागीय अधिकारियों का दायित्व बनता है कि वे महिलाओं/बालिकाओं छोटी-बड़ी शिकायतों को गम्भीरता से लें और त्वरित कार्यवायी कर उन्हे न्याय शुलभ करायें ताकि समस्याओं से ग्रसित महिलाओं एवं बालिकाओं को न्याय के लिए इधर-उधर भटकना न पड़े और उनके मान-सम्मान प्रत्येक दशा में कायम रहे।

उक्त विचार भिनगा स्थित लोक निर्माण विभाग में महिलाओं/बालिकाओं की समस्याओं/शिकायतों से रूबरू होते हुए उनका निराकरण करने के दौरान प्रदेश की राज्य महिला आयोग की मा0 सदस्या श्रीमती मनोरमा शुक्ला ने व्यक्त किया। उन्होने जोर देते हुए कहा कि महिलाएं एवं बालिकाएं हर घर की लक्ष्मी है इसलिए हमलोगों की जिम्मेदारी बनती है कि बिना भेद-भाव के हर बहन बेटी को समाजिक सुरक्षा प्रत्येक दशा में मुहैया कराने के साथ ही उनका सुरक्षा कवच भी बने ताकि सभी बहन बेटिया बने ताकि कोई भी बहन बेटी का मान सम्मान धूमिल न होने पावे। उन्होने कहा कि प्रदेश सरकार सभी बहन बेटियों के मान सम्मान को बनाये रखने के लिए उनकी सुरक्षा हेतु 1090, 181 का संचालन कर रही है। यदि कोई भी व्यक्ति किसी भी बहन बेटी के मान सम्मान को ठेस पहुंचााने की कोशिश करता है तो वह बेझिझक इन टोल फ्री नम्बर का उपयोग कर सम्बन्धित व्यक्ति को जेल भिजवा सकती है। यदि उनको समय से न्याय नही मिलता है तो वे राज्य महिला आयोग में शिकायत दर्ज करा सकती है। ऐसे प्रकरणों पर निश्चित ही महिला आयोग समस्या से पीड़ित महिलाओं/बालिकाओं को न्याय मिलेगा।
मा0 सदस्या द्वारा जनसुनवाई करने के दौरान ग्राम चकवा निवासिनी रसूला पत्नी मो0 आलम ने मा0 सदस्या को अवगत कराया कि हमारे पति मो0 आलम विगत दो वर्ष से मारते पीटते हैं तथा प्रताणित करते रहते हैं जिसके लिए कई बार शिकायत भी की गई लेकिन कोई भी कार्यवायी न होने से इस बीच हमारा पति और प्रताणित करने लगा है। ग्राम शंकरपुर थाना सिरसिया निवासिनी पूजा पत्नी अशोक ने भी अपने पति द्वारा प्रताणना से बचाने की गुहार लगाई उक्त दोनो प्रकरणों को गम्भीरता से लेते हुए मा0 सदस्या ने वंही पर उपस्थित महिला थानाध्यक्ष को एफ0आई0आर0 दर्ज कर कार्यवाही करने का निर्देश दिया। तदोपरान्त किताबुन निशा, जमीरूल निशा, राजेश कुमारी तथा गीता देवी ने भी अपनी समस्याओं से मा0 सदस्या को अवगत कराया। इन समस्याओं के मद्देनजर मा0 सदस्या ने विधिक कार्यवाही करने का महिला थानाध्यक्ष को कार्य करने का निर्देश दिया है।
महिला जनसुनवाई के दौरान जिलाधिकारी दीपक मीणा, पुलिस अधीक्षक आशीष श्रीवास्तव ने जनपद में महिलाओं की शिकायतों एवं समाधान से मस0 सदस्या को अवगत कराया। जिलाधिकारी ने बताया कि जिले की साक्षरता दर बहुत कम होने के कारण जन जागरूकता के अभाव में बाल विवाह कर दिये जाते हैं इनके रोकथाम के लिए विशेष प्रयास किये जा रहे है। इस दौरान मुख्य विकास अधिकारी अवनीश राय, जिलाध्यक्ष शंकर दयाल पाण्डेय भी उपस्थित रहे।
तदोपरान्त मा0 सदस्या ने भिनगा स्थित कस्तूरबा गांधी आवासीय विद्यालय का सघन निरीक्षण किया निरीक्षण के दौरान उन्होने बालिकाओं से पठन-पाठन, खान-पान एवं रहन-सहन के बारे में बारीकी से जानकारी ली तथा बालिकाओं को खुब पढ़ लिख कर आगे बढने का आशीष भी दिया। कस्तूरबा गाॅधी विद्यालय में तैनात अध्यापिकाओं एवं स्टाफ से उन्होने बात की और अपने बच्चों के तरीके से ही इन बच्चियों को सरकार द्वारा प्रदत्त सभी सुविधाओं को मुहैया कराकर उनका भविष्य सॅवारने के साथ ही साफ-सफाई पर विशेष बल दिया। बच्चियों से देश के मा0 प्रधानमंत्री, प्रदेश के मा0 राज्यपाल एवं प्रदेश के मा0 मुख्यमंत्री जी का नाम तथा अन्य विषयों पर भी जानकारी हासिल की जिस पर बच्चियों ने संतोष जनक जवाब दिया।
उक्त अवसरों पर उप जिला मजिस्ट्रेट माया शंकर यादव, पुलिस क्षेत्राधिकारी डा0 जे0बी0 सिंह, जिला प्रोवेशन अधिकारी मोहन त्रिपाठी, खण्ड शिक्षा अधिकारी हरिहरपुररानी सहित सम्बन्धित पुलिस/प्रशासन के अधिकारी उपस्थित रहे।

रिपोर्ट : पंकज वर्मा

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here