Visitors have accessed this post 16 times.

आगरा
उत्तर प्रदेश के आगरा कॉलेज में छात्रों के एक ग्रुप में कॉलेज परिसर में ही धुआंधार फायरिंग की। यह फायरिंग उस समय हुई जब कॉलेज में छात्र प्रैक्टिकल एग्जाम दे रहे थे। 6-7 के ग्रुप में आए इन छात्रों के हाथ में देशी तमंचा था। ये सभी कॉलेज परिसर में पीछे की ओर से दाखिल हुए और लगभग 8 फायर किए। इस मामले में कॉलेज के स्नातक द्वितीय वर्ष के छात्र मयंक यादव, पूर्व छात्र नवनीत यादव, शाहरुख और पांच अन्य लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर ली गई है।

आगरा कॉलेज के प्रिंसिपल अनिल कुमार गुप्ता ने बताया कि असामाजिक गतिविधियों और गुंडागर्दी  के चलते उन्होंने युवकों के कॉलेज में प्रवेश पर प्रतिबंध लगा दिया था। प्रिंसिपल का आरोप है कि इसी के चलते युवक उनकी हत्या करने आए थे। प्रिंसिपल ने बताया कि युवक फायरिंग करते हुए कॉलेज में प्रवेश कर रहे थे इसलिए उन्होंने खुद को उनके कमरे में छिपा लिया और कमरा बंद कर लिया।

प्रिंसिपल ने बताया कि फायरिंग के दौरान कॉलेज के दो छात्रों को गोली लगने से बची। दोनों छात्र वहां से गुजर रहे थे और गोली उनके बगल से निकल गई। उन्होंने बताया कि जिन युवकों को गिरफ्तार किया गया है वे एक राजनीतिक पार्टी से जुड़े हैं।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here