Visitors have accessed this post 44 times.

अलीगढ़ में बीते दिन देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने डिफेंस कॉरिडोर व राजा महेंद्र प्रताप विश्वविद्यालय का शिलान्यास किया है वही कार्यक्रम सकुशल संपन्न होने के बाद कार्यक्रम पर तमाम सवालिया निशान खड़े हो रहे हैं। चर्चा है कि भाजपा ने वोट बैंक की राजनीति की है। एक तरफ तो भाजपा राजा के नाम पर विश्वविद्यालय बनाने जा रही है तो दूसरी तरफ कार्यक्रम में आमंत्रित करने के बावजूद राजा के प्रपौत्र को मंच पर स्थान तक नही दिया गया बल्कि देख कर अनदेखा किया गया है। यह बात विपक्ष के नेता व पूर्व सांसद चौधरी विजेंद्र सिंह ने प्रेस वार्ता के दौरान कही है। पूर्व सांसद चौधरी विजेंद्र सिंह ने कहा की राजा के प्रपौत्र को प्रधानमंत्री कार्यालय, मुख्यमंत्री कार्यालय व जिलाधिकारी कार्यालय, से विशेष तौर पर आमंत्रित किया गया था और कहा गया कि उन्हें मंच पर स्थान दिया जाएगा और उनको सम्मानित किया जाएगा। लेकिन कार्यक्रम के दौरान राजा के प्रपौत्र को सम्मानित करना तो दूर मंच पर स्थान भी नहीं दिया गया। जबकि राजा के प्रपौत्र की पीएम से मुलाकात भी हुई और परिचय भी हुआ। उसके बाद भी राजा के प्रपौत्र को मंच पर स्थान देना जरूरी नहीं समझा। पूर्व सांसद चौधरी विजेंद्र सिंह ने भाजपा पर निशाना साधते हुए कहा कि भाजपा महेंद्र प्रताप के नाम की मार्केटिंग कर रही है और विधानसभा चुनाव 2022 के लिए केवल उनका इस्तेमाल किया जा रहा है। इसके साथ ही पूर्व सांसद ने वर्तमान सत्ता पर निशाना साधते हुए कहा की भाजपा सरकार विश्वविद्यालय बनाने के नाम पर केवल वाहवाही लूट रही है जबकि विश्वविद्यालय छात्रों के त्याग व बलिदान का परिणाम है जो कि एक ना एक दिन मिलना ही था। उन्होंने कहा कि विश्वविद्यालय जिस जमीन पर बनने जा रहा है वह जमीन दलित व पिछड़ों की है और विश्वविद्यालय में लगने वाली लागत का 100 करोड़ रूपया आगरा यूनिवर्सिटी द्वारा दिया गया है।

यह भी देखे : हाथरस के NINE to 9 बाजार में क्या है खास 

अपने क्षेत्र की खबरों के लिए डाउनलोड करें TV30 INDIA एप

http://is.gd/ApbsnE

sasni new wave