Visitors have accessed this post 57 times.

सुल्तानपुर से सपा विधायक अबरार अहमद द्वारा की गई विवादित टिप्पणी को लेकर क्षत्रिय महासभा के लोगों ने गुरुवार को विरोध प्रदर्शन किया है. विधायक अबरार अहमद के फ़ोटो पर कालिख पोत कर पुतला जलाया गया. इस दौरान क्षत्रिय महासभा ने सपा विधायक को मानसिक रोगी बताया है. और अखिलेश यादव से की माँग की है कि इसौली विधायक अबरार अहमद को तत्काल समाजवादी पार्टी से निष्कासित किया जायें.

दरअसल पूरा मामला जिला अलीगढ़ का है जहां पर अखिल भारत क्षत्रिय महासभा के द्वारा समाजवादी पार्टी के सपा विधायक अबरार अहमद की टिप्पणी को लेकर अखिल भारतीय महासभा में आक्रोश व्याप्त है ,आपको बतादें.2022 का चुनाव निकट है और ऐसे में क्षत्रियों को नाराज करने वाली टिप्पणी को लेकर क्षत्रिय महासभा ने सुरेंद्र नगर स्थित महाराणा प्रताप पार्क में इसौली विधायक का पुतला फूंका. इसौली विधायक अबरार अहमद ने ब्राह्मण और क्षत्रिय के लिए अप्रिय शब्द कहा था. उन्होंने कहा कि ब्राह्मण क्षत्रिय चौर है. ब्राह्मण, क्षत्रिय नहीं मुसलमान हमारे वास्तविक वोटर है. सपा विधायक अबरार अहमद के बिगड़ैल बोल सामने आने से चुनावी समीकरण बिगड़ते नजर आ रहे हैं. अखिल भारत क्षत्रिय महासभा के जिलाध्यक्ष ने कहा कि सुल्तानपुर के इसौली से विधायक अबरार अहमद ने कहा कि क्षत्रिय, ब्राह्मण चोर है. इसके विरोध में उनके मुंह पर कालिख पोत कर पुतला दहन किया है. अगर विधायक इस तरह का बयान दे रहा हैं तो वह मानसिक रोगी है. उन्होंने कहा कि सपा विधायक को अपना इलाज कराना चाहिए. क्षत्रिय महासभा ने समाजवादी पार्टी से मांग की है कि अबरार अहमद को पार्टी से निष्कासित करें. वही उन्होंने योगी सरकार से मांग की है कि अबरार अहमद की विधानसभा की सदस्यता से निलंबित की जायें. अगर ऐसा नहीं किया जाता तो क्षत्रिय महासभा पूरे प्रदेश में विरोध प्रदर्शन करेगी और 2022 के चुनाव में इसका अंजाम समाजवादी पार्टी को भुगतना पड़ेगा.

अपने क्षेत्र की खबरों के लिए डाउनलोड करें TV30 INDIA एप

http://is.gd/ApbsnE