Visitors have accessed this post 42 times.

अलीगढ़ : जहां एक ओर अत्याधुनिक जमाने में साइंस काफी आगे जा चुका है लेकिन अगर बात पुरानी जड़ी बूटियों व पुराने नुस्खों कि कहीं जाए तो आज भी बहुत सारी बीमारियों में पुराने नुस्खे साइंस को पीछे छोड़ते नजर आरहे है, पुराने नुस्खों के आगे साइंस भी छोटा नजर आता है अगर बात मौजूदा हालातों की कही जाए तो मौजूदा हालातों में डेंगू के प्रकोप ने एक बार फिर पुराने नुस्खों को जीवित करके रख दिया है जहां लोग बकरी के दूध से परहेज किया करते थे आज वही बकरी का दूध डेंगू के मरीजों के लिए अमृत बन चुका है लेकिन इसकी बिक्री की कीमत ₹200 प्रति किलो तक मिलने के बाद भी बाजार में दूध उपलब्ध नही हो पा रहा,

दरअसल पूरा मामला जिला अलीगढ़ तहसील इगलास क्षेत्र का है जहां पर बकरी पालने वाले लोगों से जब बात की गई तो उनके द्वारा जानकारी देते हुए बताया गया आज उन्हें महसूस हुआ है कि बकरी पालना हर किसी के बस की बात नहीं है वजह मौजूदा हालातों में बकरी के दूध की डिमांड बाजार में काफी दिखाई दे रही है डेंगू के प्रकोप के चलते बकरी का दूध डेंगू की बीमारी में अमृत साबित हो रहा है डॉक्टरों के द्वारा दवाई के साथ-साथ बकरी के दूध को भी उपयोगी बताया है डॉक्टरों का साफ तौर पर कहना है मरीजों को अगर दवा के साथ बकरी का दूध मिल जाए तो काफी लाभदायक होगा यही कारण है सभी डेंगू के मरीज बकरी के पालने वालों की ओर जाते दिखाई दे रहे हैं लेकिन बकरी पालने वाले लोगों के द्वारा जानकारी देते हुए बताया गया पुराने जमाने में बकरी के दूध को काफी उपयोग बताए जाता था लेकिन आज वही समय एक बार फिर वापस आ गया है जहां एक ओर अत्याधुनिक तकनीकों से लोगों के इलाज किए जाते हैं लेकिन उसी जमाने में आज भी पुराने नुस्खे काम आते नजर आ रहे हैं बकरी के दूध की डिमांड बाजारों में काफी है लेकिन बकरी के दूध की पूर्ति 200 रुपये प्रतिकिलो में नहीं हो पा रही है
वहीं पूरे मांगने पर डॉक्टरों के द्वारा जानकारी देते हुए बताया गया बकरी का दूध लिक्विड बतौर इस्तेमाल किया जाता है लेकिन बकरी के दूध को लेकर ऐसी कोई खास बात नहीं है जो लोग बताते हैं कि बकरी का दूध इस्तेमाल करने से प्लेट भर जाती हैं लिक्विड के तौर पर बकरी का दूध इस्तेमाल करने में कोई बुराई नहीं है स्वास्थ्य विभाग के पास दवाइयों के पूरे इंतजाम है

Input : ZA khan

यह भी देखें : इस उद्योगपति ने उत्तर प्रदेश के विकास में दिया योगदान और बना यूपी का नायक

अपनी क्षेत्रीय ख़बरों के लिए डाउनलोड करें TV30 INDIA चैनल का एंड्राइड ऐप –

http://is.gd/ApbsnE

sasni new wave