Visitors have accessed this post 72 times.

आज हम बात करेंगे खरमास की जो कि एक हिंदी महीना होता है और इसके बारे में लोग कम ही जानते हैं हर साल की तरह इस वर्ष भी खरमास का प्रारंभ हो चुका है 16 दिसंबर से खरमास प्रारंभ हो चुका है जो कि 14 जनवरी तक चलेगा आपको बताते चलें खरमास की शुरुआत धनु राशि में रहने के बाद सूर्य मकर राशि में प्रवेश करते ही होती है इस माह में पूजा पाठ करना बहुत ही शुभ माना जाता है लेकिन शादी विवाह जैसे मांगलिक कार्य इस माह में नहीं होते हैं ज्योति शास्त्रों के मुताबिक सूर्य राशि में 1 माह तक रहते हैं इसके बाद राशि बदल देते हैं और धनु राशि में प्रवेश करते ही खरमास लग जाता है कुछ लोग इसे मलमास भी कहते हैं खरमास में कर सकते हैं ऐसे कार्य जैसे खरमास में व्यक्ति प्रसाद वितरण कर सकता है साथ ही जात कर्म एवं सीमांत जैसे कार्य भी कर सकते हैं इन कार्यों को खरमास में करना अच्छा माना जाता है खरमास के महीने में विद्वानों से सरा लेकर ही कार्य करना अधिक शुभ माना जाता है अगर व्यक्ति गया में किसी का श्राद्ध तर्पण विधि करना चाहता है तो खरमास के महीने में यह शुभ होता है हिंदी खरमास में विधि-विधान द्वारा विवाह करना उचित नहीं माना जाता परंतु कोर्ट मैरिज खरमास के समय कर सकते हैं |

अपनी क्षेत्रीय ख़बरों के लिए डाउनलोड करें TV30 INDIA चैनल का एंड्राइड ऐप –

http://is.gd/ApbsnE