Visitors have accessed this post 42 times.

केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह के कार्यक्रम में एक महिला को अपने पारिवारिक विवाद का पोस्टर दिखाना महंगा पड़ गया। पोस्टर दिखानी पर भाजपाई महिलाओं ने एकत्रित होकर महिला के साथ जमकर बदसलूकी कर दी। वहीं घटना को कैमरे में कैद कर रहे पत्रकारों से कार्यक्रम में आई महिलाओं ने जमकर अभद्रता की और कैमरे व माइक आईडी छीनने का प्रयास भी किया।

दरअसल उत्तर प्रदेश में चुनाव नजदीक है वहीं चुनाव का बिगुल फूंकने के लिए केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह अलीगढ़ के ताला नगरी मैदान में आए थे। वैसे तो केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह अपने निर्धारित समय से 1 घंटे देरी से पहुंचे थे। लेकिन गृहमंत्री के पहुंचने के बाद जब उन्होंने अपना संबोधन शुरू किया तो भीड़ में बैठी एक महिला ने अपने दोनों हाथों में पोस्टर लेकर न्याय की मांग की। वही न्याय मांग रही महिला को देखकर भाजपाई महिलाएं गुस्से में आग बबूला हो गई और न्याय मांग रही महिला के साथ जमकर बदसलूकी कर दी। मामले को बढ़ता देख जब पत्रकारों ने महिला पर कैमरा लगाकर जानकारी करनी चाही तो भाजपाई महिलाओं ने पत्रकारों के साथ बदसलूकी करते हुए कैमरा व उनकी माइक आईडी छीनने की भी कोशिश की। इसी दौरान इंसाफ मांग रही महिला ने अन्य महिलाओं पर छेड़खानी का आरोप लगाया है

बातचीत के दौरान पीड़ित महिला ने बताया कि उसकी शादी 1 वर्ष पूर्व धोखे से हुई थी। वही तब से महिला न्याय को लेकर आला अधिकारियों के चक्कर लगा रही है लेकिन आज तक महिला को न्याय नहीं मिल पाया है उसका कहना है कि अब उसके पति को बीजेपी युवा मोर्चा में प्रवक्ता की जिम्मेदारी दी गई है। महिला ने कहा कि एक आरोपी को किसी पार्टी में जिम्मेदारी दे देना कहाँ का कानून है। महिला ने कहा कि पार्टी में अगर अनुसूचित मोर्चा बनाया गया है तो उसका क्या कारण है जबकि दलित महिलाओं को न्याय ही नहीं मिलता तो ऐसे मोर्चा व ऐसी पार्टी का क्या मतलब है।

INPUT – ZA KHAN

अपनी क्षेत्रीय ख़बरों के लिए डाउनलोड करें TV30 INDIA चैनल का एंड्राइड ऐप –

http://is.gd/ApbsnE