Visitors have accessed this post 37 times.

बरेली में 05 जनवरी 2022 से 14 जनवरी 2022 तक जारी रहेगा। आज परचम कुशाई का जुलूस निकला। बड़ी से बड़ी संख्या में पहुंचने लगे ज़ायरीन और अदबी शखसियत और नामचीन फनकारों का जमाबड़ा।
बरेली में ख़्वाजा कु़तुब स्थित विश्व विख्यात ख़ानकाहे आलिया नियाज़िया पर आज परचम-ए-नियाज़िया लहरा उठा है। इसी के साथ यहां कु़तबे आलम शाह नियाज़ बेनियाज़ अहमद चिश्ती क़ादरी (र0अ0) का उर्स शुरू हो गया है।
ख़ानकाह-ए-आलिया नियाज़िया के सज्जादानशीन हज़रत शाह मेहंदी मियां साहब ने परचम कुशाई की रस्म अदा करते हुए दस रोज़ा उर्स का एलान किया।

सिलसिला-ए-नियाज़िया के संस्थापक विश्व विख्यात अज़ीम सूफी बुजु़र्ग कु़तबे आलम हज़रत मौलाना शाह नियाज़ अहमद साहब क़िबाल क़ादरी चिश्ती (रूहानी उत्ताराधिकारी गौस-ए-आज़म ख़्वाजा गरीब नवाज़) का दस रोज़ा उर्स 05 जनवरी से शुरू हो रहा है जो 14 जनवरी तक जारी रहेगा। उर्स की तमाम तक़रीबात अपनी पूरी शानो शौकत और क़दीमी रिवायात के साथ हज़रत शाह मेहंदी मियां साहब क़िबला सज्जादा नशीन ख़ानकाहे आलिया नियाज़िया की जेरे सरपरस्ती में मुनअकिद होंगी। दस रोज़ा उर्स में लगातार खानकाही रिवायत के मुताबिक लंगर जारी रहेगा। सुबह रोज़ाना ख़ानकाह के महफिल खाने में कुरआन ख़्वानी की रूहानी महफिल सजेगी और रात को बाद नमाजे़ इशा हिन्दुस्तान के मशहूरों मारूफ कव्वाल नज़राना-ए-अक़ीदत पेश करेंगे। इसमें सुफियाना कलाम भी पेश किये जायेंगे। इसके अलावा तमाम ज़ायरीन चादरपोशी और गुलपोशी करेंगे। उर्स में शिरकत करने के लिए हिन्दुस्तान के कोने-कोने से और विदेशों से तमाम धर्माें के अक़ीदतमन्द शिकरत करने के लिए ख़ानकाहे नियाज़िया में पहुंच रहे हैं। इस बार जायरीन की भारी तादाद को देखते हुए उनकी सहूलियत का भी खास ख्याल रख गया है। इस बार मौके पर जिला इन्तज़ामियां में भी खास इन्तज़ाम किया है।
इससे पूर्व परचम-ए-नियाज़िया का जुलूस नौमेहला स्थित दरगाह नासिर मियां से रवाना हुआ यहां पहले फातेहा हुई, सलातो सलाम पढ़ा गया, बाद इसके अन्जुमन-ए-साबरिया चिश्तिया के तत्वावधान में परचम का जुलूस ख़ानकाहे नियाज़िया के प्रबन्धक शब्बू मियां नियाज़ी व जुनैदी मिया नियाज़ीकी क़यादत में रवाना हुआ।
यह जुलूस कोतवाली, कुतुबखाना, बड़ा बाज़ार होते हुये ख़ानकाहे नियाज़िया पहुंचा इस जुलूस में खासतौर से ख़ानकाहे नियाज़िया के साहबजादे अम्मार मियां नियाज़ी,, हस्सान मियां नियाज़ी, उमर मियां नियाज़ी, पाशा मियां नियाज़ी, दरगाह नासिर मियंा के ख़ादिम वसीम साबरी, कमाल साबरी, वकील अहमद, शाहिद साबरी हाजी तारिक, सय्यद यावर अली नियाज़ी, आफताब नियाज़ी, सय्यद मुनाज़िर अली नियाज़ी, वसीम नियाज़ी, मो0 अदीब नियाज़ी, हसीन नियाज़ी, पुराने शहर के कई अंजुमने भी शामिल हुई।

INPUT – FAZAL UR RAHMAN

अपनी क्षेत्रीय ख़बरों के लिए डाउनलोड करें TV30 INDIA चैनल का एंड्राइड ऐप –

http://is.gd/ApbsnE