Visitors have accessed this post 32 times.

हमेशा बयानबाजी को लेकर सुर्खियों में रहने वाले ए आई एम आई एम के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष सैयद नाजिम अली के द्वारा एक बार फिर ओवैसी पर निशाना साधा है नाजिम अली के द्वारा एक प्रेस वार्ता करते हुए जिला अध्यक्ष की बर्खास्तगी को अवैध बताया है उनका कहना है जिस तरीके से ओवैसी के द्वारा सेकुलरिज्म की बात की जाती है लेकिन अगर कोई भी अपने मन की बात कहता है तो उसे तत्काल पद से मुक्त कर दिया जाता है जहाँ एक ओरवसी के द्वारा खुद खुले मंच से तो हम तरह की बयानबाजी की जाती है लेकिन अगर कोई कार्य करता कोई भी बयानबाजी करता है तो उसे पद मुक्त करने का काम ओवैसी के द्वारा किया जाता है हैदराबाद से राजनीति की शुरुआत करने वाले ओवैसी उत्तर प्रदेश में लगातार लोगों के मन से खेलते नजर आ रहे हैं सैयद नाजिम अली के द्वारा ओवैसी पर तमाम तरह के आरोप लगाते हुए उन पर कटाक्ष किए हैं,

आपको बता दें 2022 के विधानसभा चुनावों से पहले ओवैसी के द्वारा अलीगढ जिले में प्रत्याशी व जिला अध्यक्ष के रूप में काम कर रहे गुलफान नूर को अलीगढ के एआईएमाइएम के जिला अध्यक्ष पद से बयान बाजी को गलत बताते हुए उन्हें मुक्त कर दिया है जिसके बाद ओवैसी के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष के द्वारा उन पर जमकर कटाक्ष किए हैं और उनके बयान का समर्थन किया है जहां एक ओर दलित और मुस्लिमों की मीटिंग में दलितों को साथ लेकर चलने वाली बात को कहना जिला अध्यक्ष को महंगा पड़ गया यही कारण उन्हें ओवैसी के द्वारा हटा दिया गया है लेकिन संविधान के तरीके से अगर बात की जाए तो जिलाध्यक्ष के बयान का नाजिम के द्वारा समर्थन किया गया है सही बात कहने के बावजूद भी जिला अध्यक्ष को बर्खास्त किया गया है कहीं न कहीं उनके साथ नाइंसाफी हुई है |

INPUT – ZA KHAN

अपनी क्षेत्रीय ख़बरों के लिए डाउनलोड करें TV30 INDIA चैनल का एंड्राइड ऐप –

http://is.gd/ApbsnE