Visitors have accessed this post 43 times.

TV30 रिपोर्ट- राशिद खान (मेरठ)

मेरठ के परतापुर क्षेत्र के सोरखा गांव का ये मामला है. यहां पुरानी रंजिश के कारण तीन बदमाशों ने एक घर पर हमला किया. यहां पहले बेटे को गोली मारी गई. इसके बाद मां को गोली मार दी गई. हमले की सीसीटीवी फुटेज वायरल हो गई है.

मेरठ में मां-बेटे की नृशंस हत्या का मामला सामने आया है. हत्या के बाद हमलावर मौके से फरार हो गए. पहले बेटे की हत्या की गई, इसके बाद खाट पर एक अन्य महिला के साथ लेटी बात कर रही वृद्ध मां को अपराधियों ने गोली मार दी. सीसीटीवी में वृद्ध महिला को गोली मारने का वीडियो कैद हो गया है. मामले में एडीजी प्रशंत कुमार ने कहा है कि अपराधियों की पहचान कर ली गई है, जल्द ही इन्हें गिरफ्तार कर लिया जाएगा.

बता दें कि मेरठ के परतापुर क्षेत्र के सोरखा गांव का ये मामला है. यहां पुरानी रंजिश के कारण तीन बदमाशों ने एक घर पर हमला किया. यहां पहले बेटे को गोली मारी गई. इसके बाद मां को गोली मार दी गई. हमले की सीसीटीवी फुटेज वायरल हो गई है. जिसमें बूढ़ी महिला किसी दूसरी महिला से बात कर रही है. इस दौरान तीन बदमाश आते हैं और उस महिला पर ताबड़तोड़ फायरिंग करने लगते हैं. इस दौरान दूसरी महिला वहां से भाग जाती है. बदमाशों ने बूढ़ी महिला को एक के बाद एक कुल 9 गोलियां मारीं. आखिरी गोलियां उनके सिर पर मारी गईं. हत्या करने के बाद बदमाश वहां से आराम से निकल जाते हैं.

उधर इस घटना के बाद इलाके में माहौल बेहद गर्म हो गया है. मामले में पुलिस अपराधि​यों की पहचान होने का दावा कर रही है. एडीजी मेरठ जोन प्रशांत कुमार ने बताया कि अपराधियों की पहचान कर ली गई है. घटना में शामिल किसी भी अपराधी को बख्शा नहीं जाएगा. जल्द गिरफ्तारी होगी.

जमीनी विवाद को लेकर पति की हत्या में गवाह थी महिला और बेटा

सोरखा निवासी नरेन्द्र की अक्टूबर 2016 में जमीनी रंजिश के चलते हत्या कर दी गई थी. इस मामले में गांव के निवासी मृतक के भतीजों मालू उर्फ श्योबीर व उसके भाई मांगे सहित अन्य कुछ लोगों को नामजद कराते हुए मृतक के परिजनों ने मुकदमा दर्ज कराया था. मालू को पुलिस ने जेल भेज दिया, जबकि मांगे सहित अन्य कई आरोपी अब तक फरार हैं. बताया जाता है कि नरेन्द्र की हत्या के मामले में उसकी पत्नी निछत्तर कौर और पुत्र बलविंद्र उर्फ भोलू गवाह थे. गुरुवार को उनकी कोर्ट में गवाही होनी थी.

आरोप है कि फरार चल रहे आरोपियों ने गवाही देने की सूरत में दोनों के कत्ल का ऐलान किया था. बुधवार सुबह करीब 11.30 निछत्तर कौर घर के बाहर बैठी थीं. इसी दौरान हमलावरों ने गोलियां बरसाकर उसकी हत्या कर दी. वहीं बलविंद्र को कार से जाते समय गांव के रास्ते में गोलियों से भून दिया. मां-बेटे की हत्या कर हत्यारे फरार हो गए. घटना के बाद गांव में हड़कंप मच गया. जानकारी के बाद सीओ ब्रहमपुरी अखिलेश भदौरिया भारी पुलिस फोर्स के साथ मौके पर पहुंचे और दोनों शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है.

एसपी क्राइम शिवराम यादव कहते हैं कि हत्यारे मृतकों के परिवार के लोग ही हैं, जिनकी प्रधानी चुनाव को लेकर पुरानी रंजिश चली आ रही है. हत्यारोपियों की पुलिस सरगर्मी से तालाश कर रही है.

उधर मामले में बीजेपी के नेता लक्ष्मीकांत बाजपेई ने सरकार पर हमला करते हुए कहा है कि मेरठ में अपराधी मस्त हैं और जनता त्रस्त हैं. उन्होंने कहा कि पुलिस के इनकाउंटर पर सवाल खड़े करते हुए कहा कि ऐसे इनकाउंटर का क्या मतलब है, जिससे बदमाशों में कोई खौफ ही न हो.

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here