Visitors have accessed this post 58 times.

सिकंदराराऊ : दस दिन पूर्व नगर में उपजिलाधिकारी अंकुर वर्मा द्वारा स्वास्थ्य विभाग की टीम के साथ आयुष चिकित्सकों के नर्सिंग होम और क्लीनिक पर छापेमारी की गई थी। छापेमारी करने के बाद अफीराह क्लीनिक में चिकित्सक के चेंबर को सील कर दिया था। जिसके बाद नगर व ग्रामीण क्षेत्र के सभी चिकित्सकों ने अपने अपने क्लीनिक और नर्सिंग होम पर तालाबंदी कर हड़ताल पर चले गए थे। जिसके परिणाम स्वरूप मरीजों को इलाज न मिलने पर बहुत परेशानी का सामना करना पड़ा था। परंतु उपजिलाधिकारी अंकुर वर्मा से चिकित्सकों की फोन पर हुई वार्ता के क्रम में डॉ नसीम अहमद, डॉ अरविंद सारस्वत एवं डॉ ललित प्रताप बघेल के नेतृत्व में चिकित्सकों के एक प्रतिनिधिमंडल ने मिलकर अपनी पद्धति एवं अधिनियम 2015 के अनुसार कार्य चिकित्सा कार्य करने की विस्तार से जानकारी दी। उसके बाद उपजिलाधिकारी अंकुर वर्मा ने चिकित्सकों को नियमानुसार ही अपनी पैथी में चिकित्सकीय कार्य करने और जांच के उपरांत चिकित्सक के चेंबर की सील को खोलने का आश्वासन दिया था। उपजिलाधिकारी के आश्वासन के बाद चिकित्सकों ने शुक्रवार को हड़ताल खत्म कर मरीजों को देखना शुरू कर दिया था। जांच पूरी होने पर बुधवार को उपजिलाधिकारी अंकुर वर्मा के निर्देश पर स्वास्थ्य विभाग की टीम ने अफीराह क्लीनिक में सील किए गए चिकित्सक के चेंबर की सील को खोल दिया। निष्पक्ष जांच से संतुष्ट चिकित्सकों ने उपजिलाअधिकारी अंकुर वर्मा का आभार व्यक्त किया।
इस अवसर पर डॉ सी पी वर्मा, डॉ ललित प्रताप बघेल, डॉ पवन कुमार कचौरा, डॉ विजय प्रकाश गुप्ता, डॉ अजीम खान, डॉ अंशुल सोनी, डॉ अरविंद सारस्वत, डॉ राकेश कुमार, डॉ नसीम अहमद, डॉ जाहिद हुसैन, आसिम अंसारी, डॉ सीपी शर्मा, डॉ मुकेश कुमार, डॉ यतेंद्र कुमार, डॉ राकेश सिंह, डॉ के के सिंह, डॉ रामवीर सिंह, डॉ तेजवीर सिंह, डॉ अरविंद पाराशर, डॉ राम प्रकाश गुप्ता, डॉ बिलाल आदि मौजूद थे।

vinay

यह भी देखें :-