Visitors have accessed this post 70 times.

श्री सीताराम से इंटर कॉलेज में छात्र नहीं कर रहे हैं अनुशासन का पालन तिराय पर कभी चौराहे पर कभी क्लास रूम में करते हैं झगड़े सरिया तथा डंडा का करते हैं लड़ाई में इस्तेमाल।। आए दिन कोतवाली में आते हैं झगड़े के मामले।
हसायन क्षेत्र के गांव गडौला में स्थित श्री सीताराम सिंह इंटर कॉलेज में पानी पीने के समय दो छात्रों में संघर्ष हो गया। जिसे प्रधानाचार्य व अध्यापकों द्वारा दोनों छात्रों को समझा-बुझाकर कक्षा में वापस कर दिया गया। मगर हसायन दीनदयाल उपाध्याय चौराहे पर उन्हीं छात्रों के समर्थकों में आपस में संघर्ष हो गया। जिसमें दो छात्र घायल हो गए । स्थानीय पुलिस द्वारा हिरासत में लेकर उपचार कराया गया। बाद में दोनों ही छात्रों के अभिभावक कोतवाली पहुंचकर आपसी सुलह मनामा कर लिया गया ।कोतवाली प्रभारी निरीक्षक शिवकुमार शर्मा द्वारा आगे कोई संघर्ष न करने की हिदायत देते हुए वापस कर दिया गया। कॉलेज में नीला और केसरिया गमछा डालकर आने की भी बात क्षेत्र में चर्चा का विषय बनी हुई है।
हसायन क्षेत्र के श्री सीताराम सिंह इंटर कॉलेज में सामान्य और अनुसूचित जाति के लोगों में संघर्ष होना आम बात नहीं है। यह संघर्ष दो दशक पूर्व से चला आ रहा है। उसी कड़ी में गत दो माह में विद्यार्थियों में कई बार संघर्ष हो गया है ।जिसे कालेज प्रशासन द्वारा बार-बार से सुलहनामा करा कर शिक्षण कार्य कराया जा रहा है ।मगर बृहस्पतिवार की सुबह अरविंद निवासी बकायन सैंकी निवासी इटर्नी के मध्य पानी पीने के बाद संघर्ष हो गया। आपसी मारपीट में एक दूसरे के शर्ट के बटन टूट गए ।जिसे शीघ्र प्रधानाचार्य मुकेश कुमार और अध्यापकों द्वारा पहुंच कर दोनों को समझा-बुझाकर कक्षा में बैठा दिया गया ।
मगर छुट्टी होने के बाद अंडौली तिराहे पर फिर संघर्ष हो गया। जिसमें 112 नंबर गाड़ी भी पहुंच गई। जहां सभी को भगा दिया गया ।इसके कुछ देर बाद हसायन के दीनदयाल उपाध्याय चौराहे पर छात्रों के समर्थक आपस में भिड़ गए। लाठी-डंडे लोहे की छड़ों से एक दूसरे पर हमला बोल दिया ।जिसमें अनिल अंडौली और शैंकी इटर्नी घायल हो गए ।जिनका उपचार सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में कराया गया ।इसके बाद कोतवाल शिवकुमार शर्मा द्वारा कॉलेज में जाकर जानकारी हासिल की। इसी दरमियान दोनों पक्षों के अभिभावक थाने पहुंच गए ।जहां दोनों पक्षों में सुलहनामा हो गया । कोतवाल शिवकुमार शर्मा द्वारा दोनों पक्षों को आगे किसी भी तरह से संघर्ष ना करने की चेतावनी दी ।अन्यथा वैधानिक कार्रवाई की जाएगी।
देर शाम कोतवाल शिवकुमार शर्मा और प्रधानाचार्य मुकेश कुमार कनौजिया के मध्य में आपसी वार्ता हुई ।जिसमें प्रधानाचार्य द्वारा कोतवाली प्रभारी से छुट्टी के बाद फोर्स तैनात करने की मांग की गई है। प्रधानाचार्य द्वारा बताया गया कि नीले केसरिया या अन्य किसी गमछे का कालेज में प्रवेश वर्जित है। कॉलेज का यूनिफॉर्म पहले से ही है। उसके विपरीत किसी का कॉलेज में प्रवेश नहीं होने दिया जाता ।कॉलेज के बाहर की व्यवस्था हमारे दायरे से बाहर है। हमें अच्छी शिक्षा देना है इसमें हमारा पूरा स्टाफ तैयार है।

यह भी देखें :-