Visitors have accessed this post 43 times.

सिकंदराराऊ : पुलिस अधीक्षक देवेश कुमार पांडेय के निर्देश पर कोतवाली पुलिस ने गांव भोपालगढ़ी में महिला की गोली मारकर हत्या किए जाने के मामले में दो नामजद अभियुक्तों को गिरफ्तार कर जेल भेजा है। अन्य तीन नामजद अभियुक्तों की पुलिस सरगर्मी से तलाश कर रही है। पुलिस ने गिरफ्तार अभियुक्तों से घटना में प्रयुक्त देसी असलाह व कारतूस जिंदा व खोखा कारतूस बरामद किए हैं ।
प्रभारी निरीक्षक अशोक कुमार सिंह ने बताया कि 19 सितंबर को राकेश शर्मा पुत्र सत्य प्रकाश निवासी गांव भूपालगढ़ी ने रिपोर्ट लिखवाई थी कि उसकी मां मुन्नी देवी व विपक्षी सुशील पुत्र ओमप्रकाश के मध्य उपजिलाधिकारी न्यायालय में वाद विचाराधीन है। उसी भूमि पर सोमवार को सुबह 6:30 बजे विपक्षीगण सुशील अपनी दबंगई के दम पर कब्जा लेने की नीयत से अपने साथ सनी पुत्र प्रमोद एवं सौरभ पुत्र सुशील, प्रमोद कुमार पुत्र छत्रपाल एवं विनीत पुत्र सुरेश निवासी गढ़ ग्राम भूपालगढ़ी थाना सिकंदराराऊ के साथ हाथों में तमंचे लेकर आए और उक्त भूमि पर मिट्टी डलवाने लगे । तभी पीड़ित व उसकी पत्नी उमा देवी, भाई विजय कुमार उसकी पत्नी डौली देवी एवं दोनों बेटियां खुशबू व बंदना वहां पहुंच गए । डौली देवी ने कहा कि लेखपाल को आने के बाद कार्य शुरू करना। इसी बात से कुपित होकर उपरोक्त आरोपित लोगों ने जान से मारने की नीयत से ताबड़तोड़ फायरिंग शुरू कर दी। सनी पुत्र प्रमोद कुमार के हाथ से चली गोली डौली देवी के पेट में जा घुसी जिससे वह गंभीर रूप से घायल हो गई। अन्य लोग बाल-बाल बच गए ।घायल डौली देवी को उपचार हेतु सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र सिकंदराराऊ लाया गया। जहां डॉक्टर ने मृत घोषित कर दिया।
प्रभारी निरीक्षक ने बताया कि सनी उर्फ दिवाकर पुत्र प्रमोद निवासी गांव भोपालगढ़ी एवं सुशील कुमार उर्फ मुन्ना पुत्र ओमप्रकाश गांव भोपालगढ़ी को हत्या में प्रयुक्त असलाह एवं कारतूस समेत करके जेल भेजा है। घटना का अभियोग धारा 147 ,148,149,307व 302 के तहत दर्ज कराया गया था। गिरफ्तारी करने वाली टीम में प्रभारी निरीक्षक अशोक कुमार सिंह के अलावा उप निरीक्षक राजेश कुमार सरोज, पुलिसकर्मी दिनेश बाबू, अमन पाल एवं गंभीर कुमार ,विजय बहादुर शामिल थे।

vinay

यह भी देखें :-