Visitors have accessed this post 29 times.

बरेली के बहेड़ीक्षेत्र के लोगों ने बहेड़ी लेखपाल पर भ्रष्टाचार में लिप्त होने और आय से अधिक संपत्ति अर्जित करने का आरोप लगाते हुए तहसील परिसर में प्रदर्शन किया। उन्होंने कहा कि लेखपाल बिना पैसा लिए कोई कार्य नहीं करता है और जो पैसा नहीं देता है उसके काम को रोक दिया जाता है। अधिकारी या कर्मचारी लेखपाल के अनुसार कार्य नहीं करता है तो राजनीतिक प्रभाव से वह उसका तबादला करवा देता है। अर्पित राज कक्कड़ कुछ लोगों के साथ तहसील परिसर पहुंचे और उन्होंने बहेड़ी लेखपाल पर आरोपी की बौछार करते हुए मुख्यमंत्री को संबोधित ज्ञापन एसडीएम को सौंपते हुए बहेड़ी लेखपाल का तबादला कराए जाने के मांग की। उन्होंने आरोप लगाया कि लेखपाल पूर्व विधायक के भतीजे को 10 लाख रुपए प्रति माह देता है और उन्हीं के कारण ही वह पिछले 7 साल से बहेड़ी में टिका हुआ है। लेखपाल ने बहेड़ी तहसील में अपने एक रिश्तेदार को कैंटीन भी खुलवा दी है। उन्होंने आरोप लगाया कि लेखपाल अपने फायदे के लिए ज़मीनों के अभिलेखों में हेराफेरी करता है और फिर लाखों रुपए लेकर ही उसको संशोधित करता है।
उन्होंने आरोप लगाया कि लेखपाल ने बासीमठ की भूमि पर भी भूमाफियाओं का अवैध कब्ज़ा कराकर फर्जी तरीके से उनके नाम सरकारी कागजात में दर्ज करा दिए हैं। लेखपाल ने जाज़ूनगर में भी अपने रिश्तेदारों को एक तालाब की जगह पर कब्जा करवा दिया है। उन्होंने आरोप लगाया है कि उक्त लेखपाल अपने लाभ के लिए पात्रों को प्रधानमंत्री आवास से वंचित कर देता है और पैसा मिलने पर ही कार्य को आगे बढ़ाता है। लेखपाल ने अपने कार्यों को निपटाने के लिए अपने एजेंट भी बना रखे हैं जो इसको लाभ पहुंचाने के लिए काम कराने आने वाले लोगों से अवैध वसूली करते हैं। उन्होंने लेखपाल की उच्च स्तरीय जांच कराकर लेखपाल का तबादला किए जाने की मांग की है।

fazal

यह भी देखें :-