Visitors have accessed this post 65 times.

मेसैढी विधान सभा के अध्यक्ष दिलखुश कुमार ने कहा आदरणीय लालू जी और उनके परिवार को बदनाम करने की साजिश है इसमें बीजेपी के साथ साथ प्रधानमंत्री कार्यालय,सीबीआई,आईआरसीटीसी ,ईडी,मामले की जिक्र करते हुए दिलखुश कुमार ने कहा कि सीवीसी को भेजी अपनी प्रतिक्रिया में सीबीआई निदेशक आलोक वर्मा ने स्पष्ट रूप से कहा कि सीबीआई के विशेष निदेशक राकेश अस्थाना,बिहार के उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी और पीएमओ के एक अधिकारी ने मिलकर आरजेडी प्रमुख लालू यादव को आईआरसीटीसी टेंडर मामले में फसाया है इससे यह साफ प्रदर्शित होता है कि केंद्र सरकार दुर्भावना से ग्रसित होकर केंद्रीय जांच एजेंसी का दुरुपयोग अपने राजनीतिक विरोधियों के खिलाफ कर रही है यह लोकतंत्र के लिए शुभ संकेत नहीं है इतिहास मोदी सरकार को कभी माफ नहीं करेगी साथ ही कहा कि केंद्र में मोदी सरकार नफरत की राजनीति कर रही है नफरत की राजनीति करने वाले भाजपा,आरएसएस,बजरंग दल आदि के खिलाफ भारत का संघर्ष जारी रहेगा दिलखुश कुमार ने अंत में कहा कि लालू जी एक विचारधारा का नाम है राजद के कार्य कार्यकर्ता गण उस विचारधारा के आगे बढ़ते रहेंगे संप्रदायिकता सामंती ताकतों के खिलाफ अपना संघर्ष आखिरी सांस तक जारी  रख संविधान एवं लोकतंत्र की रक्षा करते रहेंगे

INPUT – Samsher Bahadur

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here