सिकंदराराऊ ; क्षेत्र के गांव धुबई में मनरेगा मजदूर के खाते में आया मजदूरी का पैसा प्रधान ने वापस लेने के लिए धमकाया। पीड़ित ने शिकायत की है।
हसायन थाना क्षेत्र के गाँव धुवई निवासी मनरेगा मजदूर अनीश खान ने खंड विकास अधिकारी हसायन को प्रार्थना पत्र के माध्यम से बताया कि वह एक मनरेगा मजदूर है और उसने गांव की हसीना बेगम पत्नी बाबू खान के सरकारी आवास में तीन बार में 34 दिन मजदूरी की थी। जब उसकी मजदूरी का पैसा उसके खाते में आ गया तो ग्राम प्रधान आसिफ के द्वारा उसकी मजदूरी का पैसा खाते से निकलवा कर वापस करने के लिए कहा गया । जब उसने मना कर दिया तो उसे धमकाया जा रहा है। वहीं देखने वाली बात यह है कि ज्यादातर ग्राम पंचायत में मनरेगा मजदूरों के साथ प्रधानों के द्वारा यही व्यवहार किया जाता है। जिम्मेदारों की अनदेखी के चलते मनरेगा मजदूरों का उत्पीड़न आम बात है।

INPUT – VINAY CHATURVEDI

यह भी देखें:-