Visitors have accessed this post 51 times.

सिकंदराराऊ : हसायन थाना क्षेत्र के गांव बांण अब्दुलहईपुर में बरसात के कारण एक मकान की छत बरसात के कारण क्षतिग्रस्त होने पर गिर गई। छत गिरने के दौरान मकान के अंदर सो रहे परिवार के सभी सदस्य दब गए। रात्रि में मकान की छत गिरने के दौरान मची चीख पुकार से गांव में हडकंप मच गया। ग्रामीणों द्वारा जैसे तैसे परिवार के सभी सदस्यों को छत के मलवे को हटाकर निकाला गया। इस दौरान घर के कुछ सदस्यों के चोट भी आई है।
गांव बांण अब्दुलहईपुर निवासी संजय पुत्र देव प्रकाश रात्रि को अपने मकान में सो रहा था। तभी रविवार की रात्रि को अचानक बरसात होने के दौरान छत के गिर जाने के दौरान संजय व उसकी पत्नी व अन्य बच्चों छत का मलवा गिरने के दौरान दब गए।ग्रामीणों ने रात्रि में चीख पुकार मचने पर मौके पर पहुंचकर सभी सदस्यों को निकाला। इस संबंध में पीडित संजय ने जिले के सक्षम अधिकारियों को पत्र लिखकर शिकायत करते हुए कहा कि वह रविवार की रात्रि को अपने घर में बच्चों व हाल ही में पांच दिन पहले हुए नवजात शिशु के साथ सो रहा था।बरसात के दौरान मकान की छत क्षतिग्रस्त होकर गिरने के दौरान हम सब लोग छत के मलवे में दब गए थे।चीख पुकार मचने पर हमें गांव के ग्रामीणों ने जैसे तैसे बाहर निकाला।पीडित संजय ने जिले के सक्षम अधिकारियों से मदद की गुहार लगाई है।
इस संबंध में ग्राम प्रधान त्रिलोकी ने बताया कि गांव बांण अब्दुलहईपुर में बरसात होने के दौरान संजय जाटव का मकान की छत गिरने के दौरान हल्की फुल्की चोट आई है। नवजात शिशु को भी चोट आई है। इस संबंध में उन्होने ग्राम पंचायत सेक्रेटरी गिरीश कुमार को अवगत करा दिया है।जबकि गांव की लेखपाल का फोन भी मिलाया तो उनका फोन ही नहीं मिल पाने के कारण सूचना नहीं दे पाए हैं।

INPUT – VINAY CHATURVEDI

यह भी देखें :-