Visitors have accessed this post 64 times.

TV30 ( रिपोर्ट- राशिद खान , मेरठ मण्डल ):
क्रिकेट के सबसे रोमांचित प्रारूप २०-२० के आई पी एल संस्करण में पचिमी के क्रिकेटरों का दबदबा इस बार भी कायम है | मेरठ के करण शर्मा को इस बार पहले से ज्यादा कीमत दे कर चेन्नई सुपर ने अनुबंध किया है | करण शर्मा को इस बार 5 करोड़ में अनुबंध के साथ आई पी एल के सबसे मंहंगे खिलाड़ियों में शामिल हो गए है |

कर्ण के परिवार के लोगों को करण की मेहनत पर काफी गर्व है। उनके पिता विनोद शर्मा की माने तो 3 साल की उम्र में ही कर्ण नें बैंगन और आलू से क्रिकेट खेलना शुरू कर दिया था। कर्ण का ये रूझान देखते हुए उनके पिता कर्ण को अपने साथ स्टेडियम ले जाने लगे जहां पर उनको क्रिकेट कोच अतहर अली ने ट्रेनिंग दी। जिसके बाद करण ने बॉलिंग में अच्छा प्रदर्शन करना शुरू कर दिया और अब कर्ण ऑल राउंडर क्रिकेटरों मे जाना जाता है। कर्ण का पहला सैलेक्शन रॉयल चैलेंजर बैंगलूरू से हुआ था जो एक सपने की तरह था जिसमें कर्ण की कीमत 20 लाख रूपये थी। उनकी माने तो उस समय 20 लाख रूपये बहुत बड़ी चीज दिखायी देती थी। दूसरा सैलेक्शन भी करण का यहीं पर हुआ और तीसरी बार हैदराबाद सनराइजेज नें कर्ण को खरीदा था जिसमें पहला मैच जम्मू कश्मीर के खिलाफ खेलकर अच्छा प्रदर्शन किया था। जिसके बाद कर्ण को इंडियन टीम में देखने का सपना भी पूरा हो गया था, यानि कर्ण इंडियन टीम में एंट्री कर चुके थे। कर्ण के पिता की माने तो कर्ण के अंदर एक खास बात ये है कि कर्ण जिस भी टीम से खेलते हैं वो फाइनल में जरूर खेलती है।

कर्ण की मां पूनम शर्मा का कहना है कि उन्होंने करण को कभी भी पढाई के लिए क्रिकेट खेलने से नहीं रोका क्योंकि उनका मानना था कि जिस चीज में उसकी रूचि है वो उसको बेहतर कर सकता है जो उसने करके भी दिखाया। करण को क्रिकेट खेलते हुए देखकर बहुत अच्छा लगता है। कर्ण के परिवार ने हमेशा उसको बहुत सपोर्ट किया है औऱ आज कर्ण की कीमत 20 लाख से 5 करोड़ तक पहुँच गई है तो परिवार को कर्ण पर काफी गर्व है।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here