Visitors have accessed this post 12 times.

आगरा पुलिस का ‘नो हेल्मेट नो इंट्री’ का प्रयोग अब पूरे प्रदेश में लागू करने की तैयारी है। यानी, दुपहिया वाहन चालकों को सरकारी कार्यालयों या प्राइवेट दफ्तरों में तभी प्रवेश मिलेगा, जब वे हेलमेट पहनेंगे।

प्रमुख सचिव गृह अरविंद कुमार का कहना है कि आगरा पुलिस के इस अभियान को अच्छा रिस्पांस मिल रहा है। इसकी विस्तृत रिपोर्ट आने के बाद प्रदेश के सभी जिलों में इसे लागू कराने के लिए जिलाधिकारियों व पुलिस कप्तानों को सर्कुलर जारी किया जाएगा। एडीजी कानून व्यवस्था आनंद कुमार भी आगरा पुलिस की इस पहल को पूरे प्रदेश में लागू किए जाने पर विचार करने की बात कर रहे हैं।

आगरा के एसएसपी अमित पाठक ने इस अभियान की शुरुआत अपने दफ्तर से की थी। इसके तहत तमाम थानाध्यक्षों व शाखा प्रभारियों को पत्र लिखकर निर्देश दिया गया कि सभी पुलिसकर्मी दोपहिया वाहन चलाते समय हेल्मेट का इस्तेमाल करें। इतना ही नहीं, उन्हें यह भी सुनिश्चित कराने का निर्देश दिया कि बिना हेल्मेट के कोई भी व्यक्ति थाना, पुलिस लाइन और पुलिस कार्यालय में न आ सके।

इसका अनुपालन न करने वाले पुलिस कर्मियों के खिलाफ यातायात नियमों के तहत विभागीय कार्रवाई की जाएगी। इसके अतिरिक्त कार्यालय के मुख्यद्वार पर ‘नो हेल्मेट नो इंट्री’ और ‘हेल्मेट नहीं तो प्रवेश नहीं’ का स्लोगन लगाने के लिए कहा गया। यह अभियान कितना सफल हो रहा है, इससे जानने के लिए एसएसपी खुद हेल्मेट लगाकर बाइक से शहर में निकल रहे हैं और लोगों का फीडबैक ले रहे हैं।

निजी प्रतिष्ठानों ने भी आइडिया को अपनाया

एसएसपी अमित पाठक के इस आइडिया ने रंग लाया। आगरा के कुछ प्राइवेट प्रतिष्ठानों ने अपने कर्मचारियों को जो दोपहिया वाहनों से आते हैं, उन्हें बिना हेल्मेट के संस्थान में प्रवेश देने से मना कर दिया। इसके बाद कुछ व्यापारी भी इस आंदोलन से जुड़ गए। अब वे मुहिम चला रहे हैं कि पूरे आगरा में दोपहिया चलाने वाले सभी लोग हेल्मेट जरूर पहने।

डीएम को भाया एसएसपी का आइडिया
आगरा पुलिस की यह पहल को सबसे पहले वहां के जिलाधिकारी गौरव दयाल ने अपनाया। उन्होंने जिले के सभी सरकारी कार्यालयों के मुखिया को आदेश जारी कर कहा कि कोई भी सरकारी अधिकारी या कर्मचारी जो दोपहिया से चलते हैं, वह बिना हेल्मेट के कार्यालय में प्रवेश न करे। साथ ही उन्हें यह भी सुनिश्चित करने को कहा गया कि बिना हेल्मेट के कोई भी दोपहिया चालक कार्यालय में न आए। इस आदेश की अवहेलना करने वाले के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

मामले पर एसएसपी आगरा अमित पाठक का कहना है कि सड़क हादसे में हर साल सैकड़ों लोगों की मौत हो जाती है। लोगों को इसके प्रति जागरूक करने की जरूरत है। जब हम खुद हेल्मेट लगाकर चलेंगे तो बाकी लोगों से इसका पालन कराने में अधिक दुश्वारी नहीं आएगी।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here