Visitors have accessed this post 89 times.

मेरठ : पश्चिमी उत्तर प्रदेश के मेरठ में इस वक्त चंद्रशेखर आजाद राजनीति का केंद्र बने हुए हैं, वहीं चंद्रशेखर आजाद जो भीम आर्मी के संस्थापक हैं, आज चंद्र शेखर आजाद से कांग्रेस की वरिष्ठ नेता प्रियंका गांधी अपने सिपहसालार के साथ मिलने पहुंचे और एक नई राजनीति को जन्म दे डाला।

दरअसल चंद्रशेखर आजाद मेरठ के आनंद अस्पताल में भर्ती हैं कल वह सहारनपुर से दिल्ली के लिए पद यात्रा निकाल रहे थे लेकिन आचार संहिता का उल्लंघन मामले में उनको पुलिस ने हिरासत में ले लिया जिसके बाद उनकी तबीयत खराब हो गई थी और उन्हें मेरठ के आनंद अस्पताल लाया गया कल से यहां पर वह अपना उपचार करा रहे है, लेकिन आज कांग्रेस नेत्री प्रियंका गांधी ज्योतिरादित्य सिंधिया और राज बब्बर, चंद्रशेखर आजाद से मिलने के लिए पहुंचे, यहां पर उनसे मुलाकात की प्रियंका गांधी की मानें तो उन्होंने कहा चंद्रशेखर आजाद अपने लोगों के लिए संघर्ष कर रहे हैं वह उनसे इसलिए मिलना चाहती थी लेकिन कहीं ना कहीं प्रियंका गांधी चंद्रशेखर आजाद को अपने पाले में लाने की कोशिश भी करती हुई दिखाई दी लेकिन उधर चंद्रशेखर आजाद ने साफ लफ्जो में कहा जो भी भाजपा को हराआएगा वह उसके साथ मौजूद हैं उन्होंने कहा कि उन्होंने किसी को न्योता नहीं दिया है जो चाहे आ सकता है उनसे मिल सकता है और वह गठबंधन को ही सपोर्ट कर रहे हैं लेकिन उन्होंने यहां तक कह डाला कि वह नरेंद्र मोदी को हराने के लिए बनारस से चुनाव भी लड़ सकते हैं इस तरह की बयानबाजी करते हुए चंद्रशेखर आजाद ने खुद को राजनीति से अलग बताया लेकिन वह मोदी के विपक्ष में राजनीति भी कर सकते हैं इस तरह के संकेत चंद्रशेखर आजाद ने दे डाले हालांकि अभी भविष्य में प्रियंका गांधी का चंद्रशेखर से मिला इसके क्या सियासी मायने निकाले जाएंगे यह भी आने वाला वक्त बताएगा लेकिन इतना जरूर है कांग्रेस ने एक बार फिर अपने वोट बैंक को पाने के लिए दलित चेहरा बन चुके चंद्रशेखर आजाद को अपने पाले में लाकर खोई हुई उत्तर प्रदेश की सरजमी को तलाशने की कोशिश की है ।

रिपोर्ट : राशिद ख़ान

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here