Visitors have accessed this post 161 times.

सासनी (हाथरस) : कोरोना वायरस के भय और लॉक डाउन के चलते मुस्लिमों ने घरों में ही नमाज अता फरमाई। घरों में नमाज पढकर लोगों ने मुल्क और कौम की सलामती के लिए दुआ की।
बता दें कि कोरोना वायरस के लगाए गये लॉक डाउन-4 के दौरान ईद का त्यौहार फीका रहा, ईदगाह सूनी पडी रहीं। लोगों ने घरों में ही नमाज अता की, ईदगाहों पर भीड न हो इसके लिए सुबह से ही ईदगाहों पर पुलिस बल तैनात किया गया। शहर की नूरी मस्जिद, जामा मस्जिद, पर भी पुलिस बल तैनात किया गया। जिससे इन जगहों पर भीड न इकठ्ठी न हो सके। मुस्लिमों ने घरों में नमाज अता की और एक दूसरे से गले न मिलकर सोसल डिस्टेंस के रहते ही एक दूसरे को मुबारकबाद दी। मुस्लिमों ने कहा कि आज देश पर कोरोना वायरस का कहर बरस रहा है, उसके लिए वह देश के लिए हर संभव सहयोग के लिए तैयार है। उन्होंने खुद ईदगाहों पर न जाकर घरों में ही परवरदिगार को कोरोना वायरस के खात्मे के लिए दुआ की है। यहां तक कि बच्चों ने भी अपने बालिदों के साथ घरों में नमाज अताकर देश के प्रति अपनी देशभक्ति का इजहार किया।

इनपुट : आविद हुसैन