Visitors have accessed this post 166 times.

हाथरस – कोविड-19 पर प्रभावी नियंत्रण हेतु 05 से 15 जुलाई, 2020 तक डोर-डोर विशेष सर्विला020 तक डोर-डोर विशेष सर्विलान्स अभियान को सफल बनाने के उद्देश्य से जिलाधिकारी प्रवीण कुमार लक्षकार ने कलेक्ट्रेट सभागार में स्वास्थ्य विभाग एवं जनपद स्तरीय अधिकारियों के साथ बैठक की।

मुख्य चिकित्साधिकारी डा0 बृजेश राठौर ने अभियान के बारे में जानकारी देते हुये बताया कि विशेष सर्विलान्स अभियान 05 से 15 जुलाई, 2020 के दौरान घर-घर कोविड-19 के प्रति लोगों को जागरुक किया जायेगा एवं प्रत्येक घर के सदस्यों की थर्मल स्कैनिंग की जायेगी। सर्वेक्षण हेतु जनपद में कुल 501 टीमें लगायी गयी है, जिसमें से शहर में 61 तथा ग्रामीण क्षेत्रों के लियें 440 टीमें लगायी गयी है। उन्होने कहा कि इस अभियान में पल्स पोलियों अभियान के माईक्रोप्लान के तहत कार्यवाही की जानी है। सर्वे के दौरान टीमों द्वारा किए जाने वाले कार्यों के बारे में जानकारी देते हुए कहा कि टीम प्रत्येक घर में कोरोना वायरस के संबंध में संक्षिप्त व उपयोगी जानकारी देंगी। टीम को कोरोना वायरस से बचाव व रोकथाम के सभी उपायों जैसे सोशल डिस्टेंसिंग, मास्क का सही तरह से उपयोग एवं साबुन पानी से बार-बार हाथ धोना का पालन करने हेतु बताएंगी। टीम परिवार के सदस्यों में कोविड-19 के लक्षणों के विषय में जानकारी प्राप्त करेंगे। गतिविधियों के समय यदि कोई गंभीर लक्षण युक्त व्यक्ति मिलता है जैसे सांस फूलना, पसली चलना इत्यादि तो उसकी पूरी जानकारी तत्काल अपने पर्यवेक्षक को उपलब्ध कराएंगे। टीम द्वारा सर्वे के दौरान व्यक्ति से बुखार, खांसी एवं सांस लेने में परेशानी तथा अन्य गंभीर बीमारियों जैसे मधुमेह, उच्च रक्तचाप, कैंसर, हृदय रोग, गुर्दे के रोगों से पीड़ित तो नहीं है के बारे में जानकारी करेंगे। साथ ही यह भी जानकारी करेंगे कि पिछले 14 दिन के दौरान किसी कोरोना पॉजिटिव व्यक्ति के संपर्क में तो नहीं आए हैं। सर्वे के दौरान ली गई सूचना का समस्त विवरण फॉर्मेट में दर्ज करते हुये सायं 4ः00 बजे तक सुपरवाइजर को उपलब्ध कराएंगे।

सर्वे के लिए टीम में लगाए गए कर्मचारियों को अभियान के उद्देश्य एवं एकत्र की जाने वाली सूचनाओं को दिए गए प्रपत्र में भरने के लिए पूर्णताः प्रशिक्षण देने के जिलाधिकारी ने मुख्य चिकित्साधिकारी निर्देश दिए। अभियान को गंभीरता से लेने के निर्देश दिए उन्होंने कहा कि इसमें किसी भी प्रकार की लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी। उन्होंने मुख्य चिकित्साधिकारी को निर्देश दिए कि प्रतिदिन की गई कार्यवाही से संबंधित रिपोर्ट 7ः00 बजे तक उपलब्ध कराना सुनिश्चित करें। उन्होंने कहा सर्वे के लिए लगाई गई टीमों को स्वयं विशेष एतियात बरतना होगा एवं सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना होगा।

इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी आर0बी0 भास्कर, अपर जिलाधिकारी वि0/रा0 जे0पी0 सिंह, डिप्टी सीएमओं डी0के0 अग्रवाल, समस्त एमओआईसी एवं अन्य संबंधित अधिकारीगण उपस्थित रहे।

(अनूप शर्मा)