Visitors have accessed this post 133 times.

सिकंदराराऊ : शासन द्वारा पांच जुलाई को एक दिन में वृक्षारोपण हेतु प्रदेश में 25 करोड़ पौधों का लक्ष्य निर्धारित किया गया और सिकंदराराऊ तहसील में वास्तविक स्तर पर कितना वृक्षारोपण हुआ है और कितना उन पौधों का रख रखाव यह किसी से छिपा नहीं है। ऐसा ही एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ । जिसमें सिकंदराराऊ क्षेत्र के गांव कपसिया- टटी डंडिया मार्ग पर लगाए गए पौधे दो दिन बाद ही सूखे नजर आ रहे हैं। इतना ही नहीं कुछ पौधों को तो गड्डों में यूं ही रख दिया गया है न तो उसके चारों ओर मिट्टी डाली गई और न ही पौधों पर लगी पाॅलीथिन को हटाया गया। इससे स्पष्ट हो जाता है कि सरकारी विभाग शासन की मंशा के अनुरूप कितनी ईमानदारी व निष्ठा के साथ पालन कर रहे हैं। बता दें कि प्रदेश सरकार हर वर्ष करोडों रूपये खर्च कर के प्रदेश में हरियाली लाने का जोर शोर से प्रचार प्रसार किया जाता है और पांच जुलाई को वृहद स्तर पर पौधारोपण किया जाता है। जिसमें सभी विभाग, अधिकारी एवं राजनैतिक लोग तथा सामाजिक संगठन भी बडी तादात में हिस्सेदारी कर के फोटो खिंचाते हैं। लेकिन वृक्षारोपण के बाद उनके देख भाल की जिम्मेदारी कोई नहीं निभाता। उपजिलाधिकारी विजय कुमार शर्मा ने कहा है कि संबधित वीडियो का संज्ञान लिया जायेगा। किस स्तर पर लापरवाही हुई है इसकी जांच की जायेगी तथा पौधों के रख रखाव व सरंक्षण के लिए संबंधति ग्राम पंचायत व वन विभाग की जिम्मेदारी तय की जायेगी।

(अनूप शर्मा)