Visitors have accessed this post 258 times.

सिकंदराराऊ – कोतवाली क्षेत्र के गांव महामई सलामत नगर निवासी एक विवाहिता को दहेज लोभीयो ने दहेज की मांग न पूरी होने के चलते मौत के घाट उतार दिया । घटना को अंजाम देकर ससुरालीजन फरार हो गए । सूचना पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेजा है । कोतवाली में मृतका के पिता ने पति समेत छह ससुरालीजनों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराई है ।
प्रेम सिंह पुत्र राजवीर सिंह निवासी गांव हरनोखा थाना परौर जिला शहजानपुर ने रिपोर्ट में कहा है कि उसने अपनी पुत्री सोनी की शादी 27 अप्रैल 2014 को क्षेत्र के गांव महामई सलामत नगर निवासी श्रवण चौहान पुत्र गजेंद्र सिंह के साथ संपन्न हुई थी । शादी के कुछ दिन तक ससुरालीजनों का व्यवहार अच्छा था। बाद में ससुरालीजन अतिरिक्त दहेज में एक बुलेरो कार की मांग करने लगे। मांग न पूरी होने पर ससुरालीजन उसके साथ शारिरीक एवं मानसिक उत्पीड़न करने लगे। 15 दिन पूर्व प्रेम सिंह पुत्री की ससुराल पहुँचा। जहाँ पुत्री ने ससुरालीजनों द्वारा दी जा रही यातनाओं के बारे में अवगत कराया। ससुरालीजन कहते थे कि इसको मार दो । श्रवण की दूसरी शादी कर लेंगे। पिता ने ससुरालीजनों को समझाया और शीघ्र कार का इंतजाम कर देने को कहा। ससुरालीजनों ने उसे लज्जित कर पुत्री को साथ लेकर जाने को कहा । शुक्रवार को ससुरालीजनों ने सोनी को मौत के घाट उतार दिया। घटना को अंजाम देकर ससुरालीजन फरार हो गए। उक्त मामले की जानकारी पीड़ित के भांजे ने दी। जिस पर पीड़ित ने मामले की सूचना डायल 112 को दी। बाद में पीड़ित भी सोनी की ससुराल पहुँच गया। सूचना पर पहुँची पुलिस ने मृतका के शव को कब्जे में लेकर पंचनामा भरकर पोस्टमार्टम को भिजबाया है। मृतका अपने पीछे तीन मासूम बच्चों को रोता बिलखता छोड़ गई है। रिपोर्ट में पति , ससुर , सास , नंद , जेठ , जेठानी को नामजद किया है। रिपोर्ट दर्ज होने के बाद पुलिस आरोपियों को तलाश करने में जुट गई है।

INPUT – अनूप शर्मा