Visitors have accessed this post 163 times.

सिकंदराराऊ : उपजिलाधिकारी ने कर्म योग सेवा संघ के अध्यक्ष समेत 3 लोगों के खिलाफ सोशल मीडिया में उनकी छवि खराब करने के उद्देश्य से अनर्गल व झूठे आरोप लगाए जाने के मामले में रिपोर्ट दर्ज कराई है।
उपजिलाधिकारी विजय कुमार शर्मा ने रिपोर्ट लिखाई है कि 3 दिन पूर्व मेरी छवि बिगाड़ने के आशय से विवेकशील राघव व केशवदेव निवासीगण सिकंदराराऊ एवं नरेश कुमार पुत्र राजेंद्र सिंह निवासी गांव सुआ मोहनपुर थाना हसायन द्वारा सोशल मीडिया का दुरुपयोग करते हुए फेसबुक पर लिखा है कि एक नेता के दलालों के माध्यम से काम कर रहे हैं उपजिलाधिकारी। यही काम हमने भी कराया था। पूरा एक साल लग गया। लेखपाल यह कहकर पैसा लेता है कि अधिकारियों के चाय नाश्ते का पैसा कौन देगा, उनके खाने का पैसा कौन देगा व उपजिलाधिकारी भी दलाल हैं। जैसे अनर्गल बयानबाजी कर मेरी छवि को धूमिल करने एवं उक्त व्यक्तियों द्वारा झूठी सूचना से मुझ लोक सेवक को क्षति पहुंचाने व मान सम्मान एवं ख्याति खराब करते हुए प्रसारित किया जा रहा है। इससे मेरे मान सम्मान को ठेस पहुंची है तथा राजस्व विभाग की छवि भी धूमिल करने का प्रयास सोशल मीडिया फेसबुक का सहारा लेकर किया जा रहा है। वहीं कर्मयोग सेवा संघ के अध्यक्ष विवेकशील
राघव का कहना है कि तथ्यों के बाद भी कार्यवाही से बचने वाले अधिकारियों की छवि अच्छी नहीं रह सकती। अच्छी छवि रखने के लिए ईमानदारी से काम करना होगा। उपजिलाधिकारी द्वारा फोन वार्ता में जिन दो नेताओं का नाम लिया जा रहा है उसका आधार भी उन्हें स्पष्ट करना चाहिए। संगठन द्वारा राशन घोटालों की शिकायत की गई है माफिया स्वयं ही आगे आने लगे हैं । जिससे स्थितियां स्पष्ट होती जा रही हैं। संगठन के भ्रष्टाचार विरोधी आंदोलन को इस तरह से दमित नहीं किया जा सकेगा। भ्रष्टाचार के विरूद्ध आंदोलन कार्यवाही न होने तक जारी रहेगा।

INPUT – अनूप शर्मा

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here