Visitors have accessed this post 27 times.

भारतीय किसान यूनियन हरपाल गुट के किसानों ने तहसील परिसर पर धरना प्रदर्शन कर तहसीलदार को प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री के नाम अपनी समस्याओं से भरा एक ज्ञापन सौंपा। जिसमें उन्होंने अपनी मांगों को शीघ्र न मानने पर आंदोलन की चेतावनी दी।
शुकवार को ज्ञापन में किसानांे ने कहा है कि काले कानून को वापस लिया जाए और न्यूनतम समर्थन मूल्य एमएसपी को कानूनी रूप दिया जाए। इसके साथ ही भ्रष्टाचारियों को देशद्रोही की श्रेणी मंे रखा जाए। जिससे समाज में फैली बुराई दूर की जा सके। किसानों ने ज्ञापन में कहा है कि पेट्रोल डीजल के दामों में हुई बेहताशा बढोत्तरी को रोका जाए। और इसे जीएसटी के दायरे में लाया जाए। आवारा पशुओं से निजात दिलाने के लिए कोई कार्रवाई करें। किसानों के हित में गांव की नालियों में डीडीटी का छिडकाव करना चाहिए किसानों ने ज्ञापन में कहा है कि गांव में घरों के निकट पडे घूरे हटवाकर जगह-जगह सफाई करानी चाहिए। ज्ञापन देने वालों में उमाशंकर बांगड, राजकुमार कौशिक, हरस्वरूप जैसवाल, विदुर कुमार शर्मा, ओमप्रकाश दीक्षित, बाबूलाल सोलंकी, राधेश्याम दीक्षित, चै0 बीरी सिंह, आदि मौजूद थे।

INPUT – Avid Hussain

अपने क्षेत्र की खबरों के लिए डाउनलोड करें TV30 INDIA ऐप

https://play.google.com/store/apps/details?id=com.tv30ind1.webviewapp