Visitors have accessed this post 61 times.

सिकंदराराऊ : आज पूरा विश्व युद्ध से गुजर रहा है। रूस-यूक्रेन हो या इजरायल- फिलस्तीन, दुनियाँ धीरे धीरे दो हिस्सों में बंटती जा रही है। भारत आज सांस्कृतिक और आर्थिक विकास की ओर तेजी से बढ़ रहा है। यह समय भारत के लिए सावधानी से भरा हुआ है। पड़ोसी देशों और आंतरिक शत्रु घात लगाकर भारत को क्षति पहुंचाने के मंसूबे बनाकर बैठे हैं। ऐसे में कर्मयोग सेवा संघ जैसे संगठनों की समाज में महती आवश्यकता है जो कि सामाजिक समरसता और भ्रष्टाचार के विरुद्ध समाज को एकजुट कर रहे हैं। उक्त विचार कर्मयोग सेवा संघ के सप्तम स्थापना दिवस तथा महर्षि दयानन्द सरस्वती जी की 200वीं जन्म जयंती के अवसर पर क्षेत्रीय ग्राम आलमपुर में आयोजित कार्यक्रम के दौरान मुख्य वक्ता आचार्य योगेश भारद्वाज ने व्यक्त किये।
मुख्य अतिथि दिनेश कुमार शर्मा जी ने कहा कि महर्षि दयानन्द सरस्वती जी के विचार ही वर्तमान राष्ट्रीय चुनौतियों का समाधान कर सकते है, हमें महर्षि के विचारों को आत्मसात करते हुए विभिन्न मतों के प्रचारित पाखण्डों के विरुद्ध सतत मुक्तियज्ञ करना होगा।
कार्यक्रम की अध्यक्षता रतीराम वर्मा ने तथा संचालन कर्मयोग सेवा संघ के संस्थापक विवेकशील राघव ने किया।
कार्यक्रम का आरम्भ कन्या गुरुकुल सासनी की अधिष्ठात्री डॉ. पवित्रा विद्यालंकार व गुरुकुल की वेद विदुषियों द्वारा यज्ञ के साथ किया गया। आचार्य संजीव रूप द्वारा धार्मिक प्रवचन के माध्यम से समाज को पाखण्डों से मुक्त रहने की शिक्षा दी गई। विभाग कार्यवाह योगेश आर्य ने सफल कार्यक्रम के लिए सभी आयोजकों को बधाई दी।
एम एल सी मानवेन्द्र प्रताप सिंह ने कहा कि अभी भारत राष्ट्र भीषण आंतरिक चुनौतियों से गुजर रहा है जिससे लड़ने के लिए समाज में कर्मयोग सेवा संघ जैसे अनेकानेक संगठनों की आवश्यकता है।
पूर्व विधायक सुरेशप्रताप गांधी ने कहा कि भ्रष्टाचार के विरुद्ध और आम जनता के हित में संगठन सरहानीय कार्य कर रहा है। समाज के हर वर्ग को संगठन का सहयोग करना चाहिए।
डॉ. श्रीकांत त्रिवेदी ने कहा कि पिछले 6 वर्ष में संगठन ने जो किया है वह सामान्य व्यक्ति को दृष्टि में रखकर किया गया है।
कवि ओमप्रकाश सिंह ने कहा कि विवेकशील और उनकी टीम के समर्पण को प्रबुद्ध वर्ग समझता है और हर समय उनके साथ खड़ा है।
डॉ प्रदीप गर्ग ने कहा कि कर्मयोग सेवा संघ आम आदमी का संगठन है। आम आदमी के हितों के लिए लड़ना ही संगठन का उद्देश्य है। यह संगठन ने पिछले समय मे सिद्ध किया है।
कार्यक्रम अध्यक्ष रतीराम वर्मा ने सभी की उपस्थिति के लिए आभार व्यक्त किया।
अतिथियों का सम्मान क्षेत्रीय प्रधान शिवसिंह लोधी, प्रवल प्रताप सिंह, नागेश कुमार आर्य, विनोद राजपूत, विनय पचौरी, शैलेन्द्र प्रधान, अजय पालीवाल, देवदत्त वर्मा, लक्ष्मण सिंह, कौशल शर्मा, पुष्पेंद्र शर्मा, शिवप्रताप पुंढीर, सनी गौतम, अजय वर्मा, रमेश पुंढीर द्वारा किया गया। कार्यक्रम में सभी अतिथियों की उपस्थिति में वैदिक मंत्रोच्चार के साथ शस्त्रपूजन भी किया गया।
इस अवसर पर प्रमुख रूप से भूदेव सिंह, लक्ष्मण सिंह, अभिषेक पाण्डेय, आकृति, महावीर प्रधान, विजय पुंढीर, कृपाल सिंह, हम्मीर सिंह, प्रवीण यादव, निखिल यादव निक्की, घनश्याम आदि उपस्थित रहे।

INPUT – VINAY CHATURVEDI

यह भी देखें:-